राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण

केंद्र सरकार ने सुभाष चन्द्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार लांच किया

हाल ही में केंद्र सरकार ने सुभाष चन्द्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार लांच किया। इसके द्वारा उन व्यक्तियों तथा संस्थानों को सम्मानित किया जायेगा जिन्होंने ने आपदा प्रबंधन में देश में बेहतरीन कार्य किया है। इस पुरस्कार का उद्देश्य उन लोगों व संगठनों के प्रयासों को सम्मानित करना है, जिन्होंने आपदा के दौरान लोगों की सहायता की है।

सुभाष चन्द्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार

राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA) द्वारा जारी स्टेटमेंट के अनुसार तीन योग्य संस्थान तथा व्यक्ति “सुभाष चन्द्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार से प्रतिवर्ष सम्मानित किये जायेंगे, उन्हें 5 लाख रुपये से 51 लाख रुपये की राशि इनामस्वरुप प्रदान की जायेगी। इस पुरस्कार के लिए केवल भारतीय नागरिक तथा भारतीय संगठन ही योग्य हैं।

यदि पुरस्कार जीतने वाले कोई व्यक्ति है तो उसे एक प्रमाण पत्र तथा 5 लाख रुपये प्रदान किये जायेंगे। यदि पुरस्कार विजेता कोई संस्थान है तो उसे एक प्रमाण पत्र तथा 51 लाख रुपये प्रदान किये जायेंगे। इस इनाम राशि का उपयोग केवल आपदा प्रबंधन से सम्बंधित कार्य के लिए ही किया जा सकता है।

वर्ष 2019 के लिए पुरस्कारों को घोषणा 23 जनवरी, 2019 को नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के जन्मदिन के उपलक्ष्य पर की जाएगी।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में किया गया NDMA की 6वीं बैठक का आयोजन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA) की 6वीं बैठक की अध्यक्षता की। इस बैठक का आयोजन नई दिल्ली में किया गया था। इस बैठक में देश को प्रभावित करने वाली आपदाओं को प्रभावशाली रूप से प्रबंधित करने के लिए NDMA की हालिया गतिविधियों की समीक्षा की गयी। प्रधानमंत्री मोदी ने NDMA के प्रोजेक्ट्स की भी समीक्षा की। इस बैठक के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने विभिन्न स्टेकहोल्डर्स के बीच समन्वय की आवश्यकता पर बल दिया तथा जान-माल की हानि को कम करने के लिए अधिक से अधिक संयुक्त अभ्यास अभ्यास आयोजित किये जाने पर बल दिया।

राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA)

राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA) एक वैधानिक संस्था है, यह केन्द्रीय गृह मंत्रालय के अधीन कार्य करती है। इसकी स्थापना वर्ष 2009 में की गयी थी, इसके प्रावधान आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 से लिए गये हैं। इसका कार्य प्राकृतिक अथवा मानव निर्मित आपदा में समन्वय के साथ शीघ्र अनुक्रिया करना है। यह संगठन राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरणों (SDMA) के साथ समन्वय, नीति निर्माण तथा दिशानिर्देश जारी करने का कार्य भी करता है। NDMA के बोर्ड में 9 सदस्य होते हैं, इसकी अध्यक्षता प्रधानमंत्री द्वारा की जाती है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement