रोइंग

रक्षा मंत्री ने ईस्ट सियांग में सिस्सेरी रिवर ब्रिज का उद्घाटन किया

केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अरुणाचल प्रदेश के ईस्ट सियांग जिले में सिस्सेरी रिवर ब्रिज का उद्घाटन किया। इस पुल की सहायता से स्थानीय क्षेत्र के विकास को बल मिलेगा।

सिस्सेरी रिवर ब्रिज

इस पुल की लम्बाई 200 मीटर है, यह पुल जोनाई-पासीघाट-राणाघाट-रोइंग रोड पर स्थित है। इस पुल से पासीघाट से रोइंग की यात्रा के समय में पांच घंटे की कमी आएगी। इस पुल की सहायता से ढोला सदिया पुल के माध्यम से तिनसुकिया को भी कनेक्टिविटी मिलेगी। इसके द्वारा यह पुल दिबांग घाटी तथा सियांग को भी कनेक्टिविटी उपलब्ध करवाएगा।

सिस्सेरी रिवर ब्रिज का निर्माण सीमा सड़क संगठन (BRO) के प्रोजेक्ट ब्रह्मंक द्वारा किया गया है। बीआरओ ने अरुणाचल प्रदेश के दुर्गम इलाकों में कनेक्टिविटी के लिए चार प्रोजेक्ट शुरू किये हैं, यह प्रोजेक्ट हैं : अरुणांक, वर्तक, ब्रह्मांक तथा उदयक।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , , , , ,

भारतीय सेना को द्वितीय विश्व युद्ध के अमेरिकी एयरक्राफ्ट का मलबा अरुणाचल प्रदेश में मिला

भारतीय सेना को द्वितीय विश्व युद्ध के अमेरिकी वायुसेना के एयरक्राफ्ट का मलबा अरुणाचल प्रदेश के रोइंग जिले में मिला है। यह मलबा रोइंग से लगभग 30 किलोमीटर दूर मिला है।

मुख्य बिंदु

भारतीय सेना के 12 सदस्यीय गश्ती दस्ते ने पुलिस के साथ मिलकर एयरक्राफ्ट के अवशेषों को प्राप्त किया है। गौरतलब है कि यह मलबा भारी बर्फ के नीचे दबा हुआ था।  सबसे पहले लोअर दिबांग जिले के स्थानीय ट्रेकर्स ने इसकी सूचना पुलिस को दी थी। विपरीत भौगोलिक स्थिति के कारण घटनास्थल तक पहुँचने में गश्ती दल को 8-10 दिन लग गए।

रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत और चीन के बीच एयरक्राफ्ट क्रेश में लगभग 400 से अधिक अमेरिकी सैनिक लापता हुए थे। भारत और चीन के बीच का हिमालयी क्षेत्र द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान प्रमुख आपूर्ति मार्ग था। इस दौरान म्यांमार पर जापान ने कब्ज़ा कर लिया था। यह मार्ग ऊँचे पर्वतों और ख़राब मौसम के कारण काफी खतरनाक था।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

Advertisement