रोज़गार सृजन

गरीब कल्याण रोज़गार अभियान के तहत 25 योजनाओं को एक साथ लाया जाएगा

20 जून, 2020 को वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बड़े पैमाने पर ग्रामीण सार्वजनिक कार्य योजना-गरीब कल्याण रोज़गार अभियान का शुभारंभ करेंगे।

लक्ष्य

इस योजना का लक्ष्य देश भर के ग्रामीण हिस्सों में ग्रामीण नागरिकों को आजीविका सहायता प्रदान करके, खासकर प्रवासी श्रमिकों के लिए आजीविका समर्थन प्रदान करने के कारण देश के ग्रामीण हिस्सों में होने वाले आर्थिक प्रभाव को कम करना होगा।

केंद्र सरकार ने गरीब कल्याण रोज़गार अभियान के तहत लगभग 25 योजनाओं को एक साथ लाकर देश भर के 116 जिलों में योजना के तहत लक्ष्य प्राप्त करने की योजना बनाई है।

यह योजना कैसे काम करेगी?

6 राज्यों (ओडिशा, मध्य प्रदेश, बिहार, झारखंड, राजस्थान, और उत्तर प्रदेश) के 116 जिलों से, कुल 6.7 मिलियन प्रवासी श्रमिकों (जो देश में कुल रिटर्निंग प्रवासी श्रमिकों का लगभग दो-तिहाई है) की मैपिंग की गई है।

इस योजना के तहत, सरकार की 25 योजनाओं में गृह निर्माण, घरों में नल कनेक्शन के माध्यम से पीने का पानी, सड़क निर्माण इत्यादि की योजनाएँ शामिल हैं। वापसी करने वाले प्रवासी कामगारों को इस योजना के तहत उनके कौशल के आधार पर काम दिया जाएगा।

योजना के लिए बजट

गरीब कल्याण रोज़गार अभियान मई, 2020 के महीने में केंद्र सरकार द्वारा घोषित 20 ट्रिलियन के राहत पैकेज का एक हिस्सा है।

बजट में वित्त मंत्री ने  देश के ग्रामीण क्षेत्रों में नए रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए 61,500 करोड़ रुपए की की घोषणा की थी। 18 जून, 2020 वित्त मंत्री ने घोषणा की है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में 50,000 करोड़ रुपए का संचार किया जाएगा।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

राष्ट्रीय रोजगार नीति

श्रम मंत्रालय राष्ट्रीय रोजगार नीति को फ़ास्ट ट्रैक करेगा। राष्ट्रीय रोजगार नीति तैयार करने का मुख्य विचार एक रोडमैप बनाना है जो रोजगार सृजन के लिए प्रोत्साहन प्रदान करेगा।

मुख्य बिंदु

इस नीति में हर साल अतिरिक्त 5 मिलियन कार्यबल को अवशोषित करने का लक्ष्य होगा। साथ ही, यह नीति देश में 500 मिलियन कार्यबल को औपचारिक बनाने पर ध्यान केंद्रित करेगी। यह उनके लिए सामाजिक सुरक्षा और नौकरी की सुरक्षा भी सुनिश्चित करेगा।

यह नीति रोजगार सृजन के लिए प्रोत्साहन प्रदान करने के लिए एक रोड मैप तैयार करेगी। साथ ही, नीति में COVID-19 संकट द्वारा प्रस्तुत की गई चुनौतियों पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा।

उद्देश्य

राष्ट्रीय रोजगार नीति को दो उद्देश्यों पर ध्यान केंद्रित करते हुए तैयार किया जायेगा  :

  • रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए नए उद्यमों और उद्योगों को आकर्षित करना
  • मौजूदा कार्यबल के कौशल सेट को बेहतर बनाना और उन्हें रोजगारपरक बनाना

इसके द्वारा वैश्विक कंपनियों को भारत में विनिर्माण इकाइयों की स्थापना करने के लिए प्रोत्साहन मिलेगा।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement