लिपुलेख

नेपाल ने नए मानचित्र में कालापानी को शामिल किया

19 मई, 2020 को नेपाल ने एक नए मानचित्र को मंजूरी दी जिसमें कालापानी, लिपुलेख और लिंपियाधुरा के क्षेत्र शामिल हैं। हालाँकि, भारत द्वारा इन क्षेत्रों पर दावा किया गया है। अक्टूबर, 2019 में भारत ने एक नया राजनीतिक मानचित्र जारी किया जिसमें लिपुलेख और कालापानी को शामिल किया गया था।

मुख्य बिंदु

1816 में नेपाल और ब्रिटिश भारत के शासन ने सुगौली की संधि पर हस्ताक्षर किए जिसके तहत काली नदी को नेपाल की पश्चिमी सीमा के रूप में तय किया गया था। यह मुद्दा भारत और नेपाल के बीच सीमा विवाद के कारण नदी के स्रोत का पता लगाने में उत्पन्न हुआ है। दोनों देश अपने-अपने दावों का समर्थन कर रहे हैं।

भारत का दावा

भारत ने हाल ही में उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में एक सड़क खंड का उद्घाटन किया। भारत के अनुसार, सुगौली की संधि के तहत, लिम्पियाधुरा काली नदी की उत्पत्ति का बिंदु है। यह वह बिंदु है जहां से नेपाल की सीमा शुरू होती है।

काली नदी

काली नदी का उद्गम स्थल शिवालिक पर्वतमाला में है। हिमालय को तीन श्रेणियों में विभाजित किया गया है जिनका नाम हिमाद्री, हिमाचल और शिवालिक है। यह नदी भारत के राष्ट्रीय गंगा नदी बेसिन प्राधिकरण के स्वच्छ लक्ष्य के तहत है।

राष्ट्रीय गंगा नदी बेसिन प्राधिकरण

राष्ट्रीय गंगा नदी बेसिन प्राधिकरण पर्यावरण संरक्षण अधिनियम, 1986 के तहत स्थापित किया गया था। इस अधिनियम ने गंगा को राष्ट्रीय नदी घोषित किया। हालांकि नदी के बेसिन की सुरक्षा में प्राधिकरण की भूमिका है, लेकिन यह स्वच्छ गंगा के लिए राष्ट्रीय मिशन में शामिल नहीं है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

नाथू-ला में भारत-चीन सीमा व्यापार का 14वां संस्करण शुरू हुआ

सिक्किम में भारत-चीन सीमा पर नाथू-ला में भारत-चीन सीमा व्यापार का 14वां संस्करण शुरू हुआ। इस अवसर पर दोनों देशों के अधिकारी व व्यापारी शामिल हुए।

मुख्य बिंदु

  • प्रतिवर्ष दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय व्यापार होता है, इसका आयोजन 6 महीने तक (1 मई से 30 नवम्बर तक) सप्ताह में चार दिन तक किया जाता है।
  • 44 वर्षों के अन्तराल के बाद इस सीमा व्यापार को 6 जुलाई, 2006 को पुनः शुरू किया गया था।  इससे न केवल व्यापार को बढ़ावा मिला है, बल्कि इससे पर्यटन में भी वृद्धि हुई है, जिससे स्थानीय लोगों को आजीविका कमाने के लिए अन्य स्त्रोतों की प्राप्ति हुई है।
  • भारत के व्यापार सूची में दो अनुभाग हैं। निर्यात सूची में 36 वस्तुएं हैं, इसमें दुग्ध उत्पाद से लेकर बर्तन तक शामिल हैं। भारत की आयात सूची में 20 वस्तुएं शामिल हैं, इनमे कालीन, रजाईयां तथा जैकेट इत्यादि शामिल हैं।
  • इस मेले में 2018 में भारत ने 45.03 करोड़ रुपये की वस्तुओं का निर्यात किया, जबकि 3.23 करोड़ रुपये की वस्तुओं का आयात किया।

नोट : भारत और चीन के बीच तीन मुक्त सीमान्त व्यापार पोस्ट हैं :

  1. सिक्किम में नाथू ला
  2. हिमाचल प्रदेश में शिपकी ला
  3. उत्तराखंड में लिपुलेख

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

Advertisement