लॉकडाउन क्या है?

3 मई तक बढ़ाया गया लॉकडाउन

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 14 अप्रैल, 2020 को  देश को संबोधित किया। इस संबोधन के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने देश में 3 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा की।  यह लॉकडाउन कोरोनावायरस के तीव्र प्रसार को रोकने के लिए लिए गया है। गौरतलब है कि भारत में अब तक 10,000 से अधिक लोग कोरोनावायरस से संक्रमित हो चुके हैं।

गौरतलब है कि लॉकडाउन के दौरान देश के सभी जिलों की मॉनिटरिंग की जायेगी, जिन क्षेत्रों में कोरोनावायरस के मामले नहीं होंगे, वहां पर 20 अप्रैल के बाद लॉकडाउन में कुछ ढील जा सकती है।

लॉकडाउन क्या है?

जब लोगों के एकत्रित होने पर पर प्रतिबंध लगाया जाता है तो उस कार्रवाई को लॉकडाउन कहा जाता है। हालांकि लॉकडाउन में आवश्यक सेवाएं उपलब्ध रहेंगी। लॉकडाउन को एक कलेक्टर या मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा लागू किया जा सकता। मुख्य चिकित्सा अधिकारी महामारी रोग अधिनियम, 1897 के अनुसार लॉक डाउन लागू कर सकते हैं। लॉक डाउन के साथ पांच या अधिक लोगों को इकट्ठा करने की अनुमति नहीं है।

लॉक डाउन के दौरान पुलिस के पास उस व्यक्ति को गिरफ्तार करने और धारा 271 के तहत मामला दर्ज करने का अधिकार है, जो संगरोध (quarantine) से भागने की कोशिश करता है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

प्रधानमंत्री मोदी ने देश भर में 15 अप्रैल तक लॉकडाउन की घोषणा की

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 24 मार्च, 2020 को शाम 8 बजे देश को संबोधित किया। इस संबोधन के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने देश में 15 अप्रैल तक लॉकडाउन की घोषणा की। यह लॉकडाउन 24 मार्च, 2020 को रात 12 बजे से लागू होगा। यह लॉकडाउन कोरोनावायरस के तीव्र प्रसार को रोकने के लिए लिए गया है। गौरतलब है कि भारत में अब तक 500 से अधिक लोग कोरोनावायरस से संक्रमित हो चुके हैं।

लॉकडाउन क्या है?

जब लोगों के एकत्रित होने पर पर प्रतिबंध लगाया जाता है तो उस कार्रवाई को लॉकडाउन कहा जाता है। हालांकि लॉकडाउन में आवश्यक सेवाएं उपलब्ध रहेंगी। लॉकडाउन को एक कलेक्टर या मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा लागू किया जा सकता। मुख्य चिकित्सा अधिकारी महामारी रोग अधिनियम, 1897 के अनुसार लॉक डाउन लागू कर सकते हैं। लॉक डाउन के साथ पांच या अधिक लोगों को इकट्ठा करने की अनुमति नहीं है।

लॉक डाउन के दौरान पुलिस के पास उस व्यक्ति को गिरफ्तार करने और धारा 271 के तहत मामला दर्ज करने का अधिकार है, जो संगरोध (quarantine) से भागने की कोशिश करता है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , , ,

Advertisement