वाराणसी

दुनिया का सबसे पुराना शहर वाराणसी हुआ ‘वायरलेस’

शहर को बिजली मिलने के 86 वर्ष बाद, वाराणसी में ओवरहेड पावर केबल्स को खत्म किया जा रहा है| 16 वर्ग किमी से अधिक भूमिगत लाइनें लगाने की परियोजना पूरी हो गई है|
पावरग्रीड के लिए एकीकृत बिजली विकास योजना (IPDS) परियोजना का संचालन करने वाली कंपनी को दुनिया के सबसे पुराने शहरों में से टेढ़ी-मेढ़ी गलियों के जरिये और भीड़भाड़ वाले बाजारों में से 50,000 उपभोक्ताओं के लिए केबल बिछाना एक चुनौती था|

पृष्ठभूमि-

जून 2015 में पूर्व केन्द्रीय बिजली और कोयला राज्य मंत्री पीयूष गोयल ने वाराणसी के लिए आईपीडी के तहत भूमिगत केबल बनाने के लिए 432 करोड़ रुपये की परियोजना की घोषणा की| सितंबर 2015 में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी में देश के लिए 45,000 करोड़ रुपये के आईपीडीएस का शुभारंभ किया | कबीर नगर और अंसराबाद में पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया गया था|

वाराणसी

बनारस, वाराणसी या काशी भी कहलाता है। दक्षिण-पूर्वी उत्तर प्रदेश राज्य,भारत में उत्तरी-मध्य में गंगा नदी के बाएँ तट पर स्थित है और हिन्दुओं के सात पवित्र नगरों में से एक है। इसे मन्दिरों एवं घाटों का शहर भी कहा जाता है। वाराणसी का पुराना नाम काशी है। वाराणसी विश्व का प्राचीनतम शहर है। गंगा नदी के किनारे यह बसा है और हज़ारों वर्षो से उत्तर भारत का धार्मिक एवं सांस्कृतिक केन्द्र रहा है। इसका नाम वाराणसी दो नदियों वरुणा और असि के मध्य बसा होने के कारण पड़ा। पुराणों, रामायण, महाभारत जैसे अनेकानेक ग्रन्थों में बनारस या वाराणसी का नाम मिलता है। काशी का उल्लेख वेदों में भी है। प्राचीन काल से ही संस्कृत पढ़ने लोग वाराणसी आया करते थे। हिन्दुस्तानी संगीत में वाराणसी के घरानों की अपनी ही शैली है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

पीएम ने दी वाराणसी को 800 करोड़ की परियोजनाएं

पीएम मोदी ने वाराणसी पटना ट्रेन के साथ ही शहर के विकास के लिए करीब 800 करोड़ रुपए की परियोजनाओं का तोहफा दिया। वाराणसी के डीएलडब्ल्यू ग्राउंड में आयोजित समारोह में पीएम ने इन परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। पीएम मोदी जी ने कहा कि इन परियोजनाओं के जरिए काशी को विकास के नए मुकाम पर ले जाना है। पीएम ने वाराणसी को जो तोहफा दिया उसमें वाराणसी को पटना से जोड़ने वाली ट्रेन शामिल है । ये जनशताब्दी एक्सप्रेस देश की सांस्कृतिक राजधानी काशी को गंगा नदी के तट पर बसी प्राचीन नगरी पटना से जोड़ेगी।

पीएम मोदी ने जिन परियोजनाओं का लोकार्पण किया उनमें मंडुवाडीह आरओबी सबसे खास है। आरओबी चालू होने से हजारों लोगों को फायदा होगा और उन्हें जाम से मुक्ति मिलेगी। इसके अलावा पीएम मोदी ने लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल के उच्चीकरण, राजातालाब तहसील भवन और कल्लीपुर पेयजल योजना का शुरुआत की । इसके अलावा पीएम ने सरदार बल्लभभाई पटेल राजकीय डिग्री कॉलेज एवं डीरेका के गर्ल्स डिग्री कालेज में दो-दो कक्षाओं का निर्माण कार्य का भी लोकार्पण किया । पीएम मोदी ने काशी विश्वनाथ मंदिर में गंगा दर्शन गेस्ट हाउस, पुलिस लाइन में एसटीएफ भवन की भी शुरुआत की।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement