विशाखापत्‍तनम

आज से शुरू हो रहा है टाइगर ट्राइंफ त्रि-सेवा अभ्यास

अमेरिका और भारत के बीच त्रि-सेवा अभ्यास ‘टाइगर ट्राइंफ’ का आयोजन आंध्र प्रदेश में किया जा रहा है। इस अभ्यास की शुरुआत आज 13 नवम्बर, 2019 को हो रही है। इस अभ्यास का आयोजन आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम तथा काकीनाडा में किया जायेगा। इस अभ्यास का समापन 21 नवम्बर, 2019 को होगा।

यह ऐसा दूसरा अवसर होगा जब भारत थल सेना, नौसेना तथा वायुसेना सहित किसी दूसरे देश के साथ त्रि-सेवा सैन्य अभ्यास करेगा, इससे पहले भारत ने 2017 में रूस के व्लादिवोस्टोक में त्रि-सेवा युद्ध अभ्यास ‘इंद्र’ में हिस्सा लिया था।

टाइगर ट्राइंफ त्रि-सेवा अभ्यास

यह भारत और अमेरिका के बीच प्रथम त्रि-सेवा अभ्यास होगा। इसका मुख्य फोकस मानवीय सहायता तथा आपदा राहत ऑपरेशन होगा। इसका आयोजन बंगाल की खाड़ी के साथ पूर्वी तट पर किया जायेगा। इसका आयोजन इंटीग्रेटेड डिफेन्स स्टाफ के तहत किया जायेगा।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

विशाखापत्‍तनम में एशियाई अवसंरचना निवेश बैंक का क्षेत्रीय सम्‍मेलन संपन्न हुआ

एशियाई अवसंरचना निवेश बैंक की तीसरी वार्षिक बैठक से पहले, दूसरा दो दिवसीय क्षेत्रीय सम्‍मेलन विशाखापत्‍तनम में संपन्न हुआ। इस सम्‍मेलन का मुख्य विषय ‘बंदरगाह एवं तटीय बुनियादी ढाँचे की क्षमता में वृद्धि करना’ था। इस सम्‍मेलन के दौरान विशेषकर सागरमाला परियोजना, बंदरगाह एवं तटीय बुनियादी ढाँचा तथा नियामकीय मुद्दों, नीली अर्थव्‍यवस्‍था को बढ़ावा देने के लिये तटीय क्षेत्रों में निवेश, शिपिंग पारितंत्र के विकास, भारत के नौवहन सहायता बुनियादी ढाँचे को मज़बूत करने जैसे विषयों पर प्रकाश डाला गया। भारत सरकार एशियाई अवसंरचना निवेश बैंक की तीसरी वार्षिक बैठक की मेज़बानी 25 एवं 26 जून, 2018 को मुंबई में करेगी।

एशियाई अवसंरचना निवेश बैंक

एशियाई अवसंरचना निवेश बैंक एक बहुपक्षीय अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय संस्थान है, जिसका मुख्य उद्देश्य एशिया-प्रशांत क्षेत्र में अवसंरचना विकास को प्रोत्साहन प्रदान करना है। इसकी स्थापना दिसंबर 2015 में हुई थी तथा जनवरी 2016 से इसने कार्य करना शुरू कर दिया था। एशियाई अवसंरचना निवेश बैंक का मुख्यालय चीन की राजधानी बीजिंग में स्थित है। भारत सहित इसके सदस्य राज्यों की संख्या वर्तमान में 84 है।एशियाई अवसंरचना निवेश बैंक की अधिकृत पूंजी $100 बिलियन है और इस पूंजी में एशियाई देशों की भागीदारी लगभग 75% है। प्रत्येक सदस्य को उनके आर्थिक आकार के आधार पर समझौते के अनुसार कोटा आवंटित किया गया है। चीन, भारत और रूस इस बैंक में हिस्सेदार है जिनकी क्रमश: 30.34%, 8.52% और 6.66% हिस्सेदारी है और मताधिकार क्रमशः 26.06%, 7.5% और 5.92% है। अन्य अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय संस्थानों के अतिरिक्त एशियाई अवसंरचना निवेश बैंक ने भी अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन (ISA) के साथ वित्तीय सहभागिता के लिये समझौता किया है।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement