विश्वविद्यालय अनुदान आयोग

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने इंस्टिट्यूट ऑफ़ एमिनेंस के लिए 20 संस्थानों की अनुशंसा की

Empowered Expert Committee अनुसार विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने इंस्टिट्यूट ऑफ़ एमिनेंस के लिए 20 संस्थानों की अनुशंसा की है। इस समिति के चेयरमैन एन. गोपालस्वामी थे।

मुख्य बिंदु

इंस्टिट्यूट ऑफ़ एमिनेंस के लिए IIT मद्रास, IIT खड़गपुर, दिल्ली विश्वविद्यालय, हैदराबाद विश्वविद्यालय, अमृता विद्या विद्यापीठम तथा VIT जैसे संस्थान शामिल हैं।  इंस्टिट्यूट ऑफ़ एमिनेंस का उद्देश्य 20 विश्वस्तरीय संस्थानों को विकसित करना है और भारत को विश्व शिक्षा मानचित्र पर स्थापित करना है। इंस्टिट्यूट ऑफ़ एमिनेंस को फीस, कोर्स अवधि इत्यादि के लिए काफी अधिक स्वायत्तता दी जायेगी। सार्वजनिक संस्थानों को 1000 करोड़ रुपये की ग्रांट की जायेगी, परन्तु निजी संस्थानों को किसी भी किस्म की फंडिंग नहीं दी जाएगी।

Empowered Expert Committee  के चेयरमैन एन. गोपालस्वामी हैं, इसके सदस्य तरुण खन्ना, रेणु खटोर तथा प्रीतम सिंह हैं। इस समिति को इंस्टिट्यूशन ऑफ़ एमिनेंस के लिए 10 सरकारी तथा 10 निजी शिक्षण संस्थानों का चयन का कार्य सौंपा गया था।

 

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने विश्वविद्यालयों में नवोन्मेष को बढ़ावा देने के लिए STRIDE योजना लांच की

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने विश्वविद्यालयों में नवोन्मेष को बढ़ावा देने के लिए STRIDE योजना लांच की। STRIDE का पूर्ण स्वरुप Scheme for Trans-disciplinary Research for India’s Developing Economy है।

मुख्य बिंदु

इसका उद्देश्य युवा प्रतिभाओं की खोज करना, देश में अनुसन्धान संस्कृति को बढ़ावा देना तथा विभिन्न क्षेत्रों में अनुसन्धान के लिए सहयोग प्रदान करना है।।

इस योजना के तहत स्थानीय, राष्ट्रीय तथा वैश्विक परिस्थितियों को मध्य नज़र रखते हुए महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट्स को सहायता प्रदान की जाएगी।

इस योजना के पर्यवेक्षण के लिए प्रोफेसर भूषण पटवर्धन (नीति आयोग के वाईस-चेयरमैन) की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया गया है।

STRIDE के प्रमुख हिस्से

इस योजना के तहत महाविद्यालयों तथा विश्वविद्यालयों में प्रतिभाशाली युवा अनुसंधानकर्ताओं की खोज की जायेगी। इस योजना के तहत विभिन्न विषयों के लिए एक करोड़ रुपये तक का अनुदान दिया जायेगा।

विश्वविद्यालयों, सरकार, उद्योग तथा स्वैच्छिक संगठनों के बीच सहयोग को बढ़ावा देना। इसके तहत सभी विषयों में 50 लाख से 1 करोड़ रुपये तक का अनुदान दिया जायेगा।

इस योजनाके तहत उच्च प्रभाव वाले प्रोजेक्ट्स के लिए फंडिंग दी जयाएगी, इसमें देश के प्रमुख संस्थानों के प्रतिष्ठित वैज्ञानिक शामिल होंगे। इसके तहत एक उच्च शिक्षण संस्थान के लिए 1 करोड़ रुपये तथा बहु-संस्थान नेटवर्क के लिए 5 करोड़ रुपये की ग्रांट प्रदान की जाएगी।

31 जुलाई, 2019 से STRIDE नेटवर्क पर आवेदन प्राप्त किये जायेंगे।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

Advertisement