विश्व बैंक

नेपाल निम्न-मध्य आय वाला देश बना, जबकि श्रीलंका फिसलकर निम्न-मध्यम अर्थव्यवस्था श्रेणी में चला गया

2020-21 के विश्व बैंक के देश वर्गीकरण के अनुसार आय के स्तर के आधार पर, नेपाल की अर्थव्यवस्था निम्न-मध्य आय अर्थव्यवस्था बन गई है जबकि श्रीलंका की अर्थव्यवस्था फिसलकर  निम्न-मध्य आय अर्थव्यवस्था श्रेणी में चली गई है।

हर साल, विश्व बैंक देशों को चार आय समूहों में वर्गीकृत करता है- (i) निम्न (ii) निम्न-मध्य (iii) ऊपरी-मध्य (iv) उच्च आय। दुनिया भर में देशों की अर्थव्यवस्था के इस वर्गीकरण को 1 जुलाई को अपडेट किया जाता है।

विश्व बैंक द्वारा एटलस पद्धति का उपयोग करके किसी देश का वर्गीकरण किया जाता है। विश्व बैंक एक अर्थव्यवस्था के आकार का अनुमान लगाने के लिए 1993 से एटलस विधि का उपयोग कर रहा है। एटलस पद्धति के तहत, किसी देश की सकल राष्ट्रीय आय (जीएनआई) को वर्तमान अमेरिकी डॉलर में परिवर्तित किया जाता है।

2020 के वर्गीकरण के अनुसार, भारत निम्न-मध्य आय वाला देश बना हुआ है।

नेपाल

2 साल पहले पर 22 मई 2018 को नेपाल सरकार ने घोषणा की थी कि आगामी 10 वर्षों के भीतर एक निम्न-मध्यम आय वाले देशों बनने के लिए प्रयास किया जाएगा। नेपाल ने अपनी योजना से के पहले यह लक्ष्य हासिल किया।

निम्न-माध्यम आय वाला देश बनने के लिए, विश्व बैंक ने जीएनआई को प्रति व्यक्ति 1036 अमरीकी डालर से 4045 अमरीकी डालर के बीच निर्धारित किया है। नेपाल ने 2019 में जीएनआई को 1090 डॉलर के रूप में पार कर लिया था।

श्री लंका

एक उच्च-मध्य आय वाला देश बनने के लिए, प्रति व्यक्ति जीएनआई 4046 से 12,535 अमरीकी डालर के बीच होना चाहिए। श्रीलंका ऊपरी-मध्य आय वाले देश से निम्न-मध्यम आया वाला देश बन गया है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

विश्व बैंक ने सड़क कनेक्टिविटी में सुधार के लिए बांग्लादेश को 500 मिलियन डालर की मंजूरी दी

विश्व बैंक ने 23 जून,  2020 को बांग्लादेश को 500 मिलियन डॉलर की ऋण राशि के लिए मंजूरी दी है। यह राशि  राशि जाशोर-जेनाइदाह गलियारे के लिए मंज़ूर की गयी है, इससे  बांग्लादेश के 4 पश्चिमी जिलों को लाभ होगा। यह बांग्लादेश में सड़क कनेक्टिविटी में सुधार के लिए विश्व बैंक की कुल 1.4 बिलियन डालर की बहु-चरण परियोजनाओं का चरण I होगा।

विश्व बैंक ने कहा कि बांग्लादेश के पश्चिमी जिले बहुत अधिक प्राकृतिक और कृषि उत्पादों से संपन्न हैं। इस परियोजना के पूरा हो जाने पर पूरे क्षेत्र में बड़ी आर्थिक सम्भावना का सृजन होगा।

परियोजना का चरण I

परियोजना का चरण I जिसके लिए 500 मिलियन डालर की मंजूरी दी गई है, को पश्चिमी आर्थिक गलियारा और क्षेत्रीय संवर्द्धन (WeCARE) के रूप में नामित किया गया है। इस चरण में, दो लेन राजमार्ग के मौजूदा 110 किलोमीटर को एक सुरक्षित और जलवायु-लचीला चार-लेन राजमार्ग में अपग्रेड किया जाएगा। यह 110 किलोमीटर की परियोजना बांग्लादेश सरकार के देश के पश्चिमी भाग में 260 किमी के आर्थिक गलियारे को विकसित करने की बड़ी योजना का हिस्सा होगी।

जेनाइदाह और जाशोर के बीच 48 किलोमीटर को चरण I के तहत N7 राजमार्ग पर भी अपग्रेड किया जाएगा। इसके अलावा, 32 ग्रामीण बाजारों को जोड़ने वाली 600 किलोमीटर की ग्रामीण सड़कों को भी इस चरण के तहत बेहतर बनाया जाएगा।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement