विश्व बैंक

अटल भूजल योजना : भारत सरकार और विश्व बैंक ने 450 मिलियन डॉलर के ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किये

17 फरवरी, 2020 को विश्व बैंक और भारत सरकार ने अटल भूजल योजना के लिए 450 मिलियन डॉलर के ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किये। इसके द्वारा भूजल संस्थानों को मज़बूत किया जाएगा तथा  भूजल संसाधनों ह्रास को रोकने के लिए प्रयास किये जायेंगे।

‘राष्ट्रीय भूजल प्रबंधन सुधार कार्यक्रम’ (अटल भूजल योजना) के क्रियान्वयन उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक और हरियाणा में किया जाएगा। इस कार्यक्रम  के तहत 78 जिलों को कवर किया जाएगा, इन जिलों का चयन भूमिगत जल के ह्रास के आधार पर किया गया है।

अटल भूजल योजना

देश के बड़े भागों में भूजल संसाधनों की कमी को दूर करने के मानस से मंत्रालय ने अटल भूजल योजना का निर्माण किया है, इस योजना का उद्देश्य सामूहिक भागीदारी से देश के प्राथमिक क्षेत्रों में भूजल प्रबंधन की स्थिति में सुधार लाना है। योजना के तहत चुने गये प्राथमिक क्षेत्र के राज्यों में गुजरात, हरियाणा, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान एवं उत्तर प्रदेश शामिल है और इन राज्यों के 78 जिलों में से लगभग 8350 ग्राम पंचायतों के योजना के तहत लाभान्वित होने की आशा है। इस योजना के लिए धन राशि देने का कारण भूजल संचालन हेतु उत्तरदाई संस्थानों को बेहतर बनाना और भूजल प्रबंधन में पानी के उपयोग एवं संरक्षण को बढ़ावा देना है. मंत्रालय की वित्त व्यय समिति योजना के प्रस्ताव को पहले ही मंजूरी दे चुकी है मंत्रालय अब मंत्रिमण्डल की अनुशंसा को जल्द सुनिश्चित करेगा।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

महाराष्ट्र के Agri-business and Rural Transformation Project के लिए विश्व बैंक के साथ ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किये गये

भारत सरकार, महाराष्ट्र सरकार और विश्व बैंक ने महाराष्ट्र के Agri-business and Rural Transformation Project के लिए 210 मिलियन डॉलर के ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किये हैं।

मुख्य बिंदु

इससे छोटे व सीमान्त किसानों को बाज़ार पर आसान पहुँच उपलब्ध करवाई जायेगी। इसके अलावा किसानों को जलवायु के अनुकूल कृषि तकनीकों के बारे में बताया जाएगा। इस परियोजना का क्रियान्वयन महाराष्ट्र के 30 ज़िलों में किया जाएगा, इससे लगभग एक मिलियन किसान परिवार लाभान्वित होंगे। इस ऋण राशि का मैच्योरिटी पीरियड 13.5 वर्ष है, जबकि इसका ग्रेस पीरियड 6 वर्ष है। इस ऋण को IBRD (International Bank for Reconstruction and Development) द्वारा मंज़ूरी दी जायेगी। IBRD विश्व बैंक के पांच संस्थानों में से एक है।

विश्व बैंक

विश्व बैंक का मुख्यालय वाशिंगटन डी. सी. में है। इसकी स्थापना जुलाई 1945 को हुई थी। विश्व बैंक ऋण देने वाली एक ऐसी संस्था है जिसका उद्देश्य विभिन्न देशों की अर्थ व्यवस्थाओं को एक व्यापक विश्व अर्थव्यवस्था में शामिल करना और विकासशील देशों में ग़रीबी उन्मूलन के प्रयास करना है। इसके कुल 189 सदस्य देश हैं। इसका आदर्श वाक्य “निर्धनता मुक्त विश्व के लिए कार्य करना” है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement