विश्व व्यापार संगठन

कोरोना वायरस पर G-20 वीडियो शिखर सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा

सऊदी अरब के शासक सलमान वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए कोरोना वायरस पर G-20 शिखर सम्मेलन की अध्यक्षता करेंगे। इस शिखर सम्मेलन का आयोजन 26 मार्च, 2020 को किया जाएगा। इस शिखर सम्मेलन में कई अंतर्राष्ट्रीय संगठन हिस्सा लेंगे। भारत भी G-20 का सदस्य है।

अंतरराष्ट्रीय संगठन

इस शिखर सम्मेलन में कई  अंतर्राष्ट्रीय संगठन लेंगे। इनमें विश्व स्वास्थ्य संगठन, खाद्य और कृषि संगठन, विश्व व्यापार संगठन, अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष, आसियान, आर्थिक सहयोग व विकास संगठन, खाड़ी सहयोग परिषद् और NEPAD (New Partnership for Africa’s Development) शामिल हैं।

महत्व

इस सम्मेलन में भारत की ओर से प्रधानमंत्री मोदी हिस्सा लेंगे। इस सम्मेलन में कोरोना वायरस का मुकाबला करने के लिए वैश्विक नेता रणनीति बनाएंगे। गौरतलब है कि अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के अनुसार इस वर्ष के लिए वैश्विक विकास नकारात्मक है। भविष्य में एक बड़े वित्तीय संकट के आने के आसार हैं। इस स्थिति के लिए G-20 ने  ” A Moment for Solidarity” का सुझाव दिया है। G-20 देशों  के वित्त मंत्रियों के बीच इस विषय के आधार पर एक बैठक पहले ही आयोजित की जा चुकी है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , , , , , ,

भारत में किया जा रहा है WTO के विकासशील देशों की मंत्रिस्तरीय बैठक का आयोजन

भारत में विश्व व्यापार संगठन (WTO) के विकासशील देशों की मंत्रिस्तरीय बैठक का आयोजन 13-14 मई, 2019 के दौरान किया जा रहा है। इस बैठक का उद्देश्य नियम आधारित व्यापार प्रणाली की बहु-पक्षीय समस्याओं पर चर्चा करना है।

मुख्य बिंदु

इस बैठक में शरीक होने वाले देश इस प्रकार हैं:

  • 6 सबसे कम विकसित देश : इसमें बेनिन, बांग्लादेश, सेंट्रल अफ्रीकन रिपब्लिक, चाड, यूगांडा तथा मलावी।
  • 16 विकासशील देश : इसमें तुर्की, इंडोनेशिया, मलेशिया, दक्षिण अफ्रीका, अर्जेंटीना, ब्राज़ील, मिस्र, गुयाना, जमैका, कजाखस्तान, ग्वाटेमाला, नाइजीरिया, ओमान, चीन, सऊदी अरब तथा बारबाडोस शामिल हैं।
  • इस बैठक में विश्व व्यापार संगठन के महानिदेशक रोबर्टो अज़ेवेदो भी शरीक हो रहे हैं।

उद्देश्य व महत्व

इस बैठक के द्वारा विकासशील देश तथा सबसे कम विकसित देश एक ही प्लेटफार्म पर आयेंगे और वे साझा समस्याओं पर चर्चा करेंगे। इस बैठक में विकासशील देश तथा सबसे कम विकसित देश विश्व व्यापार संगठन के सुधारों पर आगे बढ़ने के लिए आपसी सहमती पर कार्य करेंगे।

इस बैठक का आयोजन ऐसे समय में किया जा रहा है जब बहुपक्षीय नियम आधारित व्यापार प्रणाली को कई किस्म की गंभीर चुनौतियाँ का सामना करना पड़ रहा है। पिछले कुछ समय में कई देशों द्वारा एकतरफा कदम उठाये गये हैं, जिससे विभिन्न समझौता वार्ताओं में समस्या उत्पन्न हुई है। इससे विश्व व्यापार संगठन के विवाद निपटान मैकेनिज्म के अस्तित्व को खतरा उत्पन्न हो गया है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

Advertisement