शी जिनपिंग

चीन के राष्ट्रपति को किर्गिजस्तान का सर्वोच्च राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान किया गया

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को हाल ही में किर्गिजस्तान के सर्वोच्च राष्ट्रीय पुरस्कार “मानस आर्डर ऑफ़ द फर्स्ट डिग्री” प्रदान किया गया। उन्हें यह पुरस्कार बिश्केक में प्रदान किया गया। उन्हें यह पुरस्कार 19वें शंघाई सहयोग संगठन के दौरान प्रदान किया गया। दरअसल शी जिनपिंग किर्गिजस्तान की राजकीय यात्रा पर हैं, इसके साथ-साथ उन्होंने शंघाई सहयोग संगठन के शिखर सम्मेलन में भी हिस्सा लिया।

शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ)

यह एक राजनीतिक और सुरक्षा समूह है जिसका मुख्यालय बीजिंग में है। रूस, चीन, किर्गिज गणराज्य, कजाखस्तान, ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान के राष्ट्रपतियों ने वर्ष 2001 में शंघाई में एक शिखर सम्मेलन में एससीओ की स्थापना की थी। यह 40% से अधिक मानवता एवं वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद का लगभग 20% हिस्से का प्रतिनिधित्व करता हैं। अफगानिस्तान, बेलारूस, ईरान और मंगोलिया वर्तमान में इसके पर्यवेक्षक है। वर्ष 2005 में भारत और पाकिस्तान को इस समूह के पर्यवेक्षकों के तौर पर शामिल किया गया था. दोनों देशों को वर्ष 2017 में पूर्ण सदस्य बनाया गया।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

चीन में किया जा रहा है एशियाई सभ्यताओं की वार्ता पर सम्मेलन का आयोजन

चीन में एशियाई सभ्यताओं की वार्ता पर सम्मेलन का आयोजन यूनेस्को के साथ मिलकर किया जा रहा है। इस सम्मेलन का आयोजन चीन की राजधानी बीजिंग में 15 से 22 मई के बीच किया जा रहा है। इस सम्मेलन के उद्घाटन समारोह में चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग शामिल होंगे।

मुख्य बिंदु

इस सम्मेलन में आदान-प्रदान, साझा भविष्य तथा आपसी सीख की थीम पर चर्चा की जायेगी। इस इवेंट के दौरान एक उद्घाटन समारोह तथा 6 सामानांतर सत्रों का आयोजन किया जाएगा। इस इवेंट की थीम “Exchanges and Mutual Learning Among Asian Civilizations and a Community with a Shared Future” है।

इस इवेंट में सांस्कृतिक कार्निवल, एशियाई सभ्यता सप्ताह तथा एशियाई भोजन उत्सव जैसी गतिविधियाँ भी आयोजित की जायेंगी। इसमें विश्व भर से लगभग 1500 विशेषज्ञ हिस्सा लेंगे। इसमें विभिन्न राष्ट्रों के प्रमुख तथा उच्च स्तरीय सरकारी प्रतिनिधि हिस्सा लेंगे।

एशियाई सभ्यताओं की वार्ता पर सम्मेलन का सुझाव राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने 2014 में शंघाई में दिया था। बाद में 2015 में बाओ फोरम फॉर एशियाई के वार्षिक सम्मेलन में इसका आरम्भ किया गया।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement