संयुक्त राष्ट्र महासभा

मानवाधिकार दिवस : 10 दिसम्बर

प्रतिवर्ष 10 दिसम्बर को मानवाधिकार दिवस के रूप में मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र महासभा  ने 10 दिसम्बर, 1948 को मानवाधिकार पर सार्वभौमिक घोषणा को स्वीकार किया था। मानवाधिकार दिवस की आधिकारिक स्थापना 4 दिसम्बर, 1950 को संयुक राष्ट्र महासभा की 317वीं प्लेनरी बैठक में की गयी थी।

भारत में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की स्थापना 12 अक्टूबर, 1993 को 28 सितम्बर, 1993 के मानव अधिकार सुरक्षा अध्यादेश के तहत की गयी थी। इसे मानव अधिकार सुरक्षा अधिनियम, 1993 के द्वारा वैधानिक आधार प्रदान किया गया। यह आयोग जीवन, स्वतंत्रता, समानता तथा सम्मान इत्यादि मूलभूत मानवीय अधिकारों की सुरक्षा के लिए कार्य करता है। इसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है। वर्तमान में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के चेयरमैन जस्टिस एच. एल. दत्तु हैं, राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के महासचिव अम्बुज शर्मा हैं।

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के कार्य

  • सरकार द्वारा किये गये मानवाधिकारों के उल्लंघन की पड़ताल करना।
  • मानवाधिकार से सम्बंधित कानूनी कार्यवाही में हस्तक्षेप करना।
  • पीड़ितों तथा उनके परिवारों को राहत प्रदान करने के लिए अनुशंसा करना।
  • संविधान द्वारा प्रदान संरक्षण की समीक्षा करना।
  • मानवाधिकार से सम्बंधित अंतर्राष्ट्रीय संधियों इत्यादि का अध्ययन करना तथा उसके आधार पर प्रभावी क्रियान्वयन के लिए अनुशंसा करना।
  • मानवाधिकार के क्षेत्र में शोध को बढ़ावा देना।
  • समाज के विभिन्न वर्गों में मानवाधिकार शिक्षा का प्रसार करना।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

20 नवम्बर को मनाया गया विश्व बाल दिवस

20 नवम्बर को विश्व बाल दिवस मनाया गया, इसे सार्वभौमिक बाल दिवस भी कहा जाता है। इसका उद्देश्य विश्व भरा में बच्चों के कल्याण को बढ़ावा देना है तथा उन्हें उनके अधिकार प्रदान करने के लिए जागरूकता फैलाना है। यह दिवस यूनिसेफ द्वारा मनाया जाता है।

मुख्य बिंदु

भारत में 14 नवम्बर को बाल दिवस मनाया जाता है। भारत में बाल दिवस देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरु के जन्म दिवस के अवसर पर मनाया जाता है। 1964 से पहले भारत में 20 नवम्बर को बाल दिवस मनाया जाता है, यह सार्वभौमिक बाल दिवस संयुक्त राष्ट्र द्वारा निश्चित किया गया था। वर्ष 1964 में जवाहर लाल नेहरु की मृत्यु के बाद भारत में 14 नवम्बर को बाल दिवस के रूप में निश्चित किया गया।

20 नवम्बर ही क्यों? 20 नवम्बर, 1959 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने बाल अधिकार घोषणापत्र को अंगीकृत किया था। इसी दिन 1989 में संयुक्त राष्ट्र महासभा ने बाल अधिकार कन्वेंशन को अंगीकृत किया था।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

Advertisement