संयुक्त राष्ट्र

तिज्जानी मुहम्मद-बन्दे को संयुक्त राष्ट्र महासभा के 74वें सत्र का अध्यक्ष चुना गया

तिज्जानी मुहम्मद-बन्दे को संयुक्त राष्ट्र महासभा के 74वें सत्र का अध्यक्ष चुना गया है, वे नाइजीरिया से हैं। वे संयुक्त राष्ट्र में नाइजीरिया के एम्बेसडर हैं। वे सितम्बर, 2019 में इक्वेडोर की मारिया फर्नांडा एस्पिनोसा की जगह लेंगे।

संयुक्त राष्ट्र महासभा

संयुक्त राष्ट्र महासभा संयुक्त राष्ट्र के 6 प्रधान अंगो में से एक है। यह संयुक्त राष्ट्र की एकमात्र संस्था है जिमसे सभी सदस्य देशों को समान प्रतिनिधित्व प्राप्त है। संयुक्त राष्ट्र महासभा में विभिन्न मुद्दों पर विचार-विमर्श किया जाता है, यह प्रमुख नीति-निर्माण संस्था है। यह संयुक्त राष्ट्र का सम्बन्धी कार्य भी करती है। यह सुरक्षा परिषद में अस्थायी सदस्यों का चयन भी करती है। संयुक्त राष्ट्र के महासचिव का चयन भी महाभा द्वारा किया जाता है। यह विभिन्न संस्थाओं से रिपोर्टें भी प्राप्त करती है।

इसकी स्थापना 1945 में की गयी थी। संयुक्त राष्ट्र महासभा अमेरिका के न्यूयॉर्क में स्थित है। संयुक्त राष्ट्र के पहले सत्र का आयोजन लन्दन के मेथोडिस्ट सेंट्रल हॉल में 10 जनवरी, 1946 को किया गया था, इसमें 51 देशो ने हिस्सा लिया था। इसके बाद विभिन्न शहरों में संयुक्त राष्ट्र महासभा के वार्षिक सत्र का आयोजन किया गया। 14 अक्टूबर, 1952 को सातवें वार्षिक सत्र से पहले इसका स्थायी मुख्यालय न्यूयॉर्क में स्थापित किया गया।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

भारतीय शांति सैनिक जितेंदर कुमार को मरणोपरांत संयुक्त राष्ट्र द्वारा डेग हैमर्सकोल्ड मैडल से सम्मानित किया जाएगा

भारतीय पुलिस अफसर जितेंदर कुमार को कांगो में संयुक्त राष्ट्र मिशन के लिए तैनात किया गया था। उनका निधन इथियोपियन एयरलाइन क्रेश में हुआ था।

मुख्य बिंदु

उन्हें उनकी वीरता तथा बलिदान के लिए यह सम्मान प्रदान किया जायेगा। उनके स्थान पर यह सम्मान संयुक राष्ट्र में भारत के स्थायी एम्बेसडर सैय्यद अकबरुद्दीन ग्रहण करेंगे। इस सम्मेलन का आयोजन न्यूयॉर्क में किया जाएगा।

जितेंदर कुमार को कांगो के लोकतान्त्रिक गणराज्य में स्थायित्व मिशन (MONUSCO) में नियुक्त किया गया था। उनका निधन जनवरी, 2019 में हुआ।

भारत संयुक्त राष्ट्र शान्ति बल में सैनिक भेजने वाला चौथा सबसे बड़ा देश है। वर्तमान में भारत के 6400 से अधिक सैनिक सायप्रस, कांगो, हैती, लेबनान, पश्चिम एशियाई, दक्षिण सूडान तथा पश्चिमी सहारा में तैनात हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement