संयुक्त राष्ट्र

11 अक्टूबर : अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस

11 अक्टूबर को विश्व भर में अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसका उद्देश्य बालिकाओं के अधिकारों के बारे में जागरूकता फैलाना है तथा उन्हें शिक्षा, पोषण, स्वास्थ्य सुविधा, कानूनी अधिकार तथा भेदभाव से संरक्षण उपलब्ध करवाना है।

मुख्य बिंदु

विश्व भर में लगभग 21 मिलियन लड़कियों का विवाह 18 वर्ष की आयु पूर्ण करने से पहले ही हो जाता है जबकि 62 मिलियन बालिकाओं को शिक्षा प्राप्त नहीं हो पाती। अतः इस समस्याओं के समाधान के लिए  इस दिवस के द्वारा बालिकाओं से जुड़े हुए मुद्दों के बारे में जागरूकता फैलाने के कार्य किया जाता है।

पृष्ठभूमि

अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस की घोषणा संयुक्त राष्ट्र द्वारा की गयी थी। इसके लिए “महिलाओं की स्थिति” के लिए कनाडा की मंत्री रोना अम्ब्रोस ने इसके लिए प्रस्ताव प्रस्तुत किया था। संयुक्त राष्ट्र महासभा ने इसके लिए 19 दिसम्बर, 2011 को प्रस्ताव पारित किया था। सर्वप्रथम 11 अक्टूबर, 2012को अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया गया।

Categories:

Month:

Tags: , ,

विश्व अन्तरिक्ष सप्ताह : 4-10 अक्टूबर

विश्व अन्तरिक्ष सप्ताह अन्तरिक्ष से सम्बंधित सबसे बड़ा इवेंट है, इसमें 80 से अधिक देश हिस्सा ले रहे हैं। इसकी थीम ‘चन्द्रमा :सितारों का द्वार’ है। विश्व अन्तरिक्ष सप्ताह को 4 अक्टूबर, 1957 को लांच किया गया था। इस दिन प्रथम मानव निर्मित उपग्रह स्पुतनिक 1 को लांच किय गया था।

इतिहास

विश्व अन्तरिक्ष सप्ताह संघ ने 1980 में विश्व अन्तरिक्ष सप्ताह के समन्वय का कार्य शुरू किया। स्पेस वीक के मुख्यालय की स्थापना अमेरिका में की गयी थी। 1999 के बाद विश्व अन्तरिक्ष सप्ताह का समन्वय संयुक्त राष्ट्र द्वारा किया जाने लगा।

स्पुतनिक

स्पुतनिक मानव निर्मित पहला उपग्रह था, इसके 1957 में अन्तरिक्ष में लांच किया गया था। इस उपग्रह को सोवियत संघ ने लांच किया था। यह उपग्रह पृथ्वी की निम्न कक्षा में परिक्रमा करता था। तीन सप्ताह के बाद इस उपग्रह की बैटरी ने काम करना बंद कर दिया था और यह उपग्रह निष्क्रिय हो गया था। इसके बाद सोवियत संघ और अमेरिका के बीच शीतयुद्ध काल में अन्तरिक्ष की दौड़ शुरू हुई।

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement