सऊदी अरब

जमाल खाशोज्जी कौन हैं?

जमाल खाशोज्जी सऊदी अरब के पत्रकार हैं, हाल ही में उनका नाम काफी सुर्ख़ियों में रहा है। उनकी मृत्यु पिछले वर्ष रहस्यमय परिस्थितियों में हुई थी। उनकी हत्या तुर्की के इस्तांबुल में सऊदी अरब के दूतावास में की गयी। दरअसल खाशोज्जी 2 अक्टूबर, 2018 को इस्तांबुल (तुर्की) में सऊदी अरब के दूतावास गए थे, परन्तु  उसके बाद वे उस भवन से बाहर नहीं आये। तुर्की की पुलिस द्वारा उनकी हत्या की आशंका जताई गयी थी। खाशोज्जी के मुद्दे पर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर काफी विवाद चल रहा था। हाल ही में सऊदी अरब के प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने अमेरिकी टीवी चैनल PBS की डाक्यूमेंट्री में जमाल खाशोज्जी की हत्या का ज़िक्र किया है।

पृष्ठभूमि

जमाल खाशोज्जी सऊदी अरब में पत्रकारिता का कार्य करते थे, वे अल-अरब न्यूज़ चैनल के एडिटर-इन-चीफ तथा अल वतन अख़बार के एडिटर के रूप में कार्य कर चुके हैं। उन्होंने सऊदी अरब की सरकार की आलोचना करते हुए कई लेख लिखे। वे सऊदी अरब के राजकुमार मोहम्मद बिन सलमान तथा देश के शासक किंग सलमान के आलोचक थे। उन्होंने यमन में सऊदी अरब के हस्तक्षेप का भी विरोध किया था।

जमाल खाशोज्जी

जमाल खाशोज्जी का जन्म 13 अक्टूबर, 1958 को सऊदी अरब के मदीना में हुआ था। वे एक स्तंभकार, पत्रकार व लेखक हैं। उन्होंने अल-अरब न्यूज़ चंनल तथा अल वतन अखबार में कार्य किया है। खाशोज्जी ने सितम्बर, 2017 में सऊदी अरब को छोड़ा था।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

अमेरिका ने ईरान के केन्द्रीय बैंक पर प्रतिबन्ध लगाया

हाल ही में सऊदी अरब में तेल ठिकानों पर ड्रोन हमले के बाद अमेरिका ने कड़ा कदम उठाते हुए ईरान के केन्द्रीय बैंक पर प्रतिबन्ध लगा दिया है। अमेरिका ने इस हमले के लिए ईरान को ज़िम्मेदार ठहराया है।

पृष्ठभूमि

14 सितम्बर, 2019 को सऊदी अरब में अबकैक तथा खुरैस में सऊदी अरामको कंपनी के तेल प्रसंस्करण स्थल पर ड्रोन द्वारा हमला किया गया था। इस हमले की ज़िम्मेदारी यमन में हूती विद्रोहियों द्वारा ली गयी थी। लेकिन सऊदी अरब के अधिकारियों के अनुसार इस हमले में जो ड्रोन और मिसाइलें इस्तेमाल की गयी थीं, वे ईरान में बनायीं गयी थीं। अमेरिका भी इस हमले में ईरान की भूमिका पर सहमत है। परन्तु ईरान ने अपने आप को इस हमले से अलग किया है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

Advertisement