सऊदी अरब

सऊदी अरब बना FATF की पूर्ण सदस्यता प्राप्त करने वाला पहला अरब देश

सऊदी अरब FATF की पूर्ण सदस्यता प्राप्त करने वाला पहला अरब देश बना है। FATF की वार्षिक बैठक का आयोजन अमेरिका के फ्लोरिडा के ऑर्लैंडो में किया गया।

सऊदी अरब और FATF

सऊदी अरब नवम्बर, 2004 से मध्य पूर्व व उत्तर अफ्रीका (MENA) का संस्थापक सदस्य है। मध्य पूर्व व उत्तर अफ्रीका (MENA) FATF समूह का हिस्सा है। 2015 के आरंभ में सऊदी अरब  को FATF का पर्यवेक्षक बनने के लिए आमंत्रित किया गया था। FATF के दिशानिर्देशों का पालन करने के परिणामस्वरुप सऊदी अरब को FATF की पूर्ण सदस्यता दी गयी है।

फाइनेंशियल एक्शन टास्क फ़ोर्स (FATF)

फाइनेंशियल एक्शन टास्क फ़ोर्स धन शोधन पर एक अंतरसरकारी संगठन है। इसकी स्थापना 1989 में की गयी थी। इसका मुख्यालय फ्रांस की राजधानी पेरिस में स्थित है। वर्तमान में इसके अध्यक्ष मार्शल बिलिंगसी हैं। इसकी स्थापना का शुरूआती उद्देश्य धन शोधन का सामना करने के लिए नीति निर्माण करना था। वर्ष 2001 में इसके कार्यक्षेत्र में आतंकवादी फंडिंग को भी शामिल किया गया। वर्तमान में इसमें 38 सदस्य देश शामिल हैं। अब सऊदी अरब के बाद इसके सदस्यों की संख्या 39 पहुँच गयी है। इसके बैठक का आयोजन वर्ष में तीन बार किया जाता है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

14वें इस्लामिक सहयोग संगठन शिखर सम्मेलन का आयोजन मक्का में किया गया

हाल ही में सऊदी अरब के मक्का में इस्लामिक सहयोग संगठन के 14वें शिखर सम्मेलन का आयोजन सऊदी अरब के शासक सलमान बिन अब्दुल अज़ीज़ अल सौद द्वारा किया गया।

मुख्य बिंदु

इस बैठक का आधिकारिक एजेंडा “मुस्लिम जगत की वर्तमान समस्याएं” थीं। इस बैठक ईरान और अमेरिका के बीच बढ़ते तनाव तथा क्षेत्रीय सुरक्षा पर भी चर्चा की गयी। इस बैठक में इस्लामिक देशों के नेताओं ने अमेरिका द्वारा जेरूसलम को इजराइल की राजधानी के रूप में मान्यता दिए जाने की आलोचना की।

इस्लामिक सहयोग संगठन

इस्लामिक सहयोग संगठन की स्थापना 1969 में 24 सदस्य देशों द्वारा की गयी थी, वर्तमान में इसमें 57 सदस्य हैं। इसमें तुर्की, ईरान और पाकिस्तान जैसे गैर-अरबी देश भी शामिल है। अरब लीग के 22 सदस्य भी इसके सदस्य हैं। इसमें रूस और थाईलैंड समेत 5 पर्यवेक्षक देश भी हैं।

इसके सदस्य देशों की कुल जनसँख्या 1.8 अरब है, यह संयुक्त राष्ट्र के बाद दूसरी सबसे बड़ी अंतरसरकारी संस्था है। इस्लामिक सहयोग संगठन के शिखर सम्मेलन का आयोजन प्रत्येक तीन वर्ष बाद किया जाता है। इसकी आधिकारिक भाषाएँ अरबी, अंग्रेजी और फ़्रांसिसी हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement