साइबर सुरक्षा

साइबर सुरक्षा पर भारत-इजरायल ने समझौते पर हस्ताक्षर किये

15 जुलाई, 2020 को भारत और इज़राइल ने साइबर खतरों से निपटने में अपने सहयोग का विस्तार करने के लिए समझौतों पर हस्ताक्षर किए। इज़राइल के राष्ट्रीय साइबर निदेशालय (INCD) के महानिदेशक और इज़राइल में भारत के राजदूत संजीव सिंगला के बीच समझौते पर हस्ताक्षर किए गए।

मुख्य बिंदु

इस समझौते में भारतीय कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम (CERT) भी शामिल है जो इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी और INCD मंत्रालय के तहत काम करती है। इस समझौते से साइबर खतरों पर देशों के बीच सूचनाओं के आदान-प्रदान के दायरे का विस्तार होगा।

यह समझौता क्षमता निर्माण और क्षेत्र में सर्वोत्तम प्रथाओं के आपसी आदान-प्रदान में सहायता करेगा।

पृष्ठभूमि

साइबर सुरक्षा को भारत और इज़राइल के नेताओं द्वारा सहयोग के महत्वपूर्ण क्षेत्रों में से एक के रूप में चिन्हित किया गया था जब पीएम मोदी ने 2017 में इज़राइल का दौरा किया। दोनों देशों ने 2018 में साइबर सुरक्षा समझौतों पर भी हस्ताक्षर किए।

महत्व

COVID-19 संकट पूरे विश्व में कार्य संस्कृति को बदल रहा है। उद्योग अपने कर्मचारियों की भौतिक उपस्थिति को कम कर रहे हैं। ‘वर्क फ्रॉम होम’ संस्कृति से कार्य बड़े पैमाने पर बढ़ रहा है। इसके परिणामस्वरुप साइबर खतरे भी बढ़ गये हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Event Bot क्या है?

भारत की कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पांस टीम (CERT) ने “EventBot” नामक एक नए मैलवेयर के खिलाफ चेतावनी जारी की है। CERT के अनुसार यह मैलवेयर एंड्राइड फोन उपयोगकर्ताओं से व्यक्तिगत वित्तीय जानकारी चुराता है।

मुख्य बिंदु

इवेंट बॉट मैलवेयर एक ट्रोजन है। यह गुप्त रूप से कंप्यूटर या फोन ऑपरेटिंग सिस्टम पर हमला करता है। वर्तमान में, यह मैलवेयर 200 से अधिक विभिन्न वित्तीय एप्लीकेशन को प्रभावित करने में सक्षम है।

वर्तमान परिदृश्य

सीईआरटी के अनुसार इस मैलवेयर ने वर्तमान में पेपाल, यूनीक्रिडिट, एचएसबीसी, कॉइनबेस, ट्रांसफर वायर आदि जैसे वित्तीय एप्लीकेशन पर हमला किया है।

CERT

CERT इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत  संचालित होता है। यह भारत की नोडल एजेंसी है जो हैकिंग, साइबर सुरक्षा खतरों, फ़िशिंग के विरुद्ध  कार्य करती है। अंतर्राष्ट्रीय उपायों के अलावा, CERT भारत के भीतर कई पहल लागू कर रहा है। इसमें मुख्य रूप से “साइबर स्वच्छ केंद्र” शामिल है।

साइबर स्‍वच्‍छता केंद्र

साइबर स्वच्छ केंद्र का लक्ष्य देश के भीतर बॉटनेट संक्रमण का पता लगाकर सुरक्षित साइबर स्पेस बनाना है। यह CERT द्वारा सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम, 2000 की धारा 70 B में प्रावधान के अनुसार संचालित है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement