सोयुज़

रूस ने “फेडोर” नामक रोबोट को अंतर्राष्ट्रीय अन्तरिक्ष स्टेशन (ISS) के लिए भेजा

रूस ने हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय अन्तरिक्ष स्टेशन के लिए कजाखस्तान के बैकोनुर से एक राकेट लांच किया है, इस राकेट में “फेडोर” नामक रोबोट को भेजा गया है। यह रूस द्वारा अन्तरिक्ष में भेजा गया पहला रोबोट है। “फेडोर” की ऊंचाई एक मीटर 80 सेंटीमीटर है (5 फीट 11 इंच) । इसका भार 160 किलोम्ग्राम है। इस रोबोट का उपयोग नई आपातकालीन बचाव प्रणाली का परीक्षण करना है। अंतर्राष्ट्रीय अन्तरिक्ष स्टेशन में 10 दिन तक “फेडोर” नए कौशल सीखेगा, यह इलेक्ट्रिक केबल को स्क्रूड्राइवर की सहायता से कनेक्ट तथा डिसकनेक्ट करने जैसे कार्य भी करेगा।

अंतर्राष्ट्रीय अन्तरिक्ष स्टेशन (ISS)

अंतर्राष्ट्रीय अन्तरिक्ष स्टेशन (ISS) पृथ्वी की निम्न कक्षा में एक आवासीय कृत्रिम उपग्रह है। यह पृथ्वी से 330 से 435 किलोमीटर की ऊंचाई पर है। यह 92 मिनट में पृथ्वी की एक परिक्रमा पूरी करता है। यह एक दिन में 15.5 बार पृथ्वी की परिक्रमा करता है। ISS कार्यक्रम पांच अन्तरिक्ष एजेंसियों नासा (अमेरिका), रोसकॉसमॉस (रूस), जाक्सा (जापान), ESA (यूरोप) तथा CSA (कनाडा) का संयुक्त कार्यक्रम है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , , , , ,

तकनीकी खराबी के चलते सोयुज़ राकेट की आपातकालीन लैंडिंग

कजाखस्तान में झेजकज्गान के निकट सोयुज़ राकेट की आपातकालीन लैंडिंग की गयी, यह राकेट अंतर्राष्ट्रीय अन्तरिक्ष स्टेशन के लिए रवाना हुआ था, इस राकेट में अमेरिकी अंतरिक्षयात्री निक हेग तथा रूसी अंतरिक्षयात्री अलेक्सी ओवचिनिन सवार थे। राकेट के उड़ान के बूस्टर राकेट क्रियाशील नहीं हो सके।

मुख्य बिंदु

इस उड़ान के लिए सोयुज़-MS 10 राकेट का उपयोग किया गया। उड़ान के 90 सेकंड बाद ही उड़ान में कुछ अनियमितता पाई गयी, जिस कारण इस राकेट की आपातकालीन लैंडिंग करवानी पड़ी। इस घटना में अमेरिकी अंतरिक्षयात्री निक हेग तथा रूसी अंतरिक्षयात्री अलेक्सी ओवचिनिन दोनों सुरक्षित बच गये। यह दोनों अन्तरिक्ष यात्री अंतर्राष्ट्रीय स्पेस स्टेशन पर एक्सपीडिशन 57 क्रू में शामिल होने के लिए जा रहे थे। इस घटना के बाद राहत व बचाव दल को सोयुज़ का मलबा बैकोनुर से लगभग 500 किलोमीटर की दूरी पर उत्तर-पूर्व में मिला।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

Advertisement