स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट

2019 में भारत सैन्य व्यय में विश्व में तीसरे स्थान पर रहा : SIPRI

स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट (SIPRI) की हालिया वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिका 2019 में 732 अरब डॉलर के साथ दुनिया में सबसे अधिक सैन्य खर्च करने वाला है। यह पहली बार हुआ है जब दो एशियाई देशों चीन और भारत ने शीर्ष-तीन पदों पर कब्जा किया है। 2019 में चीन का सैन्य खर्च 261 बिलियन डॉलर तक पहुंच गया, इसमें पिछले वर्ष की तुलना में 5.1% की वृद्धि हुई है। भारत का सैन्य खर्च 6.8% बढ़कर 71.1 बिलियन तक पहुंच गया है।

मुख्य बिंदु

विश्व के तीन शीर्ष सैन्य खर्चों के बाद रूस और सऊदी अरब क्रमशः चौथे और पांचवें स्थान पर हैं। शीर्ष तीन सैन्य खर्च करने वाले देशों की हिस्सेदारी विश्व सैन्य खर्च में 62% है।

वैश्विक सैन्य व्यय

2018 की तुलना में 2019 में कुल सैन्य व्यय में 3.6% की वृद्धि हुई। 2019 में वैश्विक व्यय 2 ट्रिलियन डालर था। 2008 के वैश्विक वित्तीय संकट के बाद से यह सबसे अधिक सैन्य खर्च है।

भारत

इस रिपोर्ट के अनुसार कश्मीर मुद्दे को लेकर पाकिस्तान के साथ बढ़ते तनाव के कारण भारत का सैन्य खर्च बढ़ गया है। 2019 में भारत ने अपनी सेना पर 71.1 बिलियन अमरीकी डालर खर्च किए हैं। 2018 की तुलना में इसमें 6.8% की वृद्धि हुई है।

अमेरिका

इस रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका का सैन्य व्यय विश्व में सर्वाधिक है। 2019 में अमेरिका ने सेना के लिए 732 बिलियन अमरीकी डालर खर्च किए थे। यह 2018 की तुलना में 5.3% अधिक है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

भारत हथियारों का दूसरा सबसे बड़ा आयातक है : स्टॉकहोम इंटरनेशनल रिपोर्ट

स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट (SIPRI) ने हाल ही में “Trends in International arms transfers 2019” पर अपनी रिपोर्ट जारी की। इस रिपोर्ट के अनुसार भारत दुनिया में दूसरा सबसे बड़ा हथियार आयातक है।

मुख्य बिंदु

इस रिपोर्ट के अनुसार रूस 2015-19 के बीच भारतीय बाजार का सबसे बड़ा आपूर्तिकर्ता था। रूस के लिए भारतीय हथियार बाजार 72% से घटकर 56% हो गया, इसके बावजूद रूस भारत का शीर्ष आपूर्तिकर्ता बना हुआ है।

इस रिपोर्ट के अनुसार विश्व के शीर्ष 5 हथियार आयातकों में सऊदी अरब, भारत, मिस्र, ऑस्ट्रेलिया और चीन शामिल हैं। इन 5 देशों में विश्व हथियारों के आयात का 36% है।

भारत

भारत ने वर्ष 2015-19 में हथियारों के आयात में विविधता लाई है। इस रिपोर्ट के अनुसार भारत ने अन्य देशों से सैन्य हार्डवेयर का अधिग्रहण किया है। इसमें डेनमार्क से स्कैनर -6000 रडार, जर्मनी से एक्टस सोनार सिस्टम, ब्राजील से एम्ब्रेयर ईआरजे -154 जेट, दक्षिण कोरिया से के -9 थंडर आर्टिलरी गन और इटली से सुपर रैपिड 76 मिमी नेवल गन्स शामिल हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

Advertisement