स्पाइसजेट

स्पाइसजेट बनी 100 एयरक्राफ्ट फ्लीट वाली चौथी भारतीय एयरलाइन

स्पाइसजेट भारत की ऐसी चौथी एयरलाइन बन गयी है जिसके पास 100 एयरक्राफ्ट हैं, हाल ही में इसमें शामिल किया गया बोइंग 737 इसका 100वां जहाज़ था। भारत में 100 या इससे अधिक एयरक्राफ्ट वाली तीन एयरलाइन्स हैं : एयर इंडिया, जेट एयरवेज और इंडिगो।

स्पाइसजेट

स्पाइसजेट गुरुग्राम बेस्ड बजट कैरिएर है। इसके फ्लीट में 30 बोम्बार्डीयर Q-400, 68 बोइंग 737 तथा दो B737 विमान शामिल हैं। वर्तमान में स्पाइसजेट 62 स्थानों (53 घरेलु तथा 9 अंतर्राष्ट्रीय स्थानों) के लिए 575 उड़ानों का संचालन करती है। इस एयरलाइन ने पिछले महीने ही 23 नए जहाज़ अपने फ्लीट में शामिल किये हैं।

स्पाइसजेट भारत सरकार की क्षेत्रीय कनेक्टिविटी योजना “उड़ान” (UDAN = उड़े देश का आम नागरिक) का महत्वपूर्ण अंग है। यह विभिन्न क्षेत्रीय स्थानों से रोजाना 42 उड़ानों का संचालन करता है।

2015 में स्पाइसजेट ने 205 एयरक्राफ्ट के लिए बोइंग को आर्डर दिया था, इस सौदे की कुल लागत 22 अरब डॉलर थी। इसके बाद स्पाइसजेट ने 50 बोम्बार्डीयर Q400 विमानों का आर्डर दिया, इस सौदे की कीमत 1.7 अरब डॉलर थी।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

स्पाइसजेट एयरलाइन IATA में शामिल हुई

भारत की स्पाइसजेट एयरलाइन हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय वायु परिवहन संघ (IATA) में शामिल हुई। स्पाइसजेट IATA में शामिल होने वाली पहली भारतीय बजट एयरलाइन है। IATA में 290 से अधिक एयरलाइन्स सदस्य के रूप में शामिल हैं।

IATA में शामिल होने के बाद स्पाइसजेट अन्य अंतर्राष्ट्रीय सदस्य एयरलाइन्स के साथ सहयोग कर सकते हैं। इससे स्पाइसजेट को अपने नेटवर्क में विस्तार करने का अवसर मिलेगा।

अंतर्राष्ट्रीय वायु परिवहन संघ (IATA)

यह अंतर्राष्ट्रीय एयरलाइन्स के लिए एक व्यापार संघ है, इसकी स्थापना 1945 में की गयी थी। IATA का मुख्यालय कनाडा के मोंट्रियल में स्थित है। इसमें 280 एयरलाइन्स शामिल है। यह संगठन हवाई यात्रा क्षेत्र से सम्बंधित नीति तथा मानक तय करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसके अतिरिक्त यह संगठन कई क्षेत्रों में प्रशिक्षण भी उपलब्ध करवाता है।

स्पाइसजेट

स्पाइसजेट एक भारतीय बजट एयरलाइन है, घरेलु यात्रियों के आधार पर यह देश की चौथी सबसे बड़ी एयरलाइन है। इसकी श्तापना 2004 में रॉयल एयरवेज के रूप में की गयी थी। इसने 23 मई, 2005 से कार्य शुरू किया। इसका मुख्यालय गुरुग्राम में स्थित है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement