स्पेस एक्स

स्पेस एक्स ने किया क्रू कैप्सूल का परीक्षण

अमेरिका की निजी अन्तरिक्ष एजेंसी स्पेस एक्स ने हाल ही में क्रू कैप्सूल का अति महत्वपूर्ण परीक्षण किया। इस दौरान स्पेस एक्स ने राकेट के दुर्घटनाग्रस्त होने की स्थिति में अन्तरिक्षयात्रियों को पृथ्वी पर सुरक्षित उतारने के लिए परीक्षण किया। यह परीक्षण सफल रहा, इस परीक्षण में स्पेस एक्स ने फाल्कन-9 राकेट का इस्तेमाल किया था। स्पेस एक्स शीघ्र ही अंतरिक्षयात्रियों को अब अंतर्राष्ट्रीय स्पेस स्टेशन (ISS) में भेजने का कार्य शुरू करेगा।

स्पेस एक्स

स्पेस एक्स एक निजी अमेरिकी अन्तरिक्ष एजेंसी है। इसकी स्थापना एलोन मस्क द्वारा 6 मई, 2002 को की गयी थी। एलोन मस्क स्पेस एक्स के वर्तमान सीईओ हैं। इस अन्तरिक्ष एजेंसी की स्थापना का प्रमुख उद्देश्य अन्तरिक्ष परिवहन की लागत कम करना तथा मंगल गृह पर मानव बस्ती की स्थापना करना है। स्पेस एक्स ने फाल्कन रॉकेट्स की श्रृंखला तैयार की है। अंतिरक्ष परिवहन की लागत को कम करने के लिए स्पेस एक्स ने री-यूजेबल रॉकेट्स (पुनः इस्तेमाल किये जा सकने वाले राकेट) निर्मित किये हैं। इन रॉकेट्स के अधिकत्तर हिस्सों को अन्य लांच में भी इस्तेमाल किया जाता है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

स्पेस एक्स का स्टार लिंक प्रोजेक्ट क्या है?

हाल ही में अमेरिका की निजी अन्तरिक्ष एजेंसी स्पेस एक्स ने राकेट के द्वारा 60 उपग्रहों को अन्तरिक्ष में स्थापित किया गया, यह उपग्रह स्पेस एक्स की “स्टार लिंक” परियोजना का हिस्सा हैं। इन उपग्रहों को अमेरिका के फ्लोरिडा के केप कैनवेरल से फाल्कन  राकेट की सहायता से लांच किया गया। इस राकेट ने उपग्रहों को 550 किलोमीटर की ऊंचाई पर स्थापित किया। इन संचार उपग्रहों की सहायता से अन्तरिक्ष से इन्टरनेट की सुविधा प्रदान की जायेगी। प्रत्येक उपग्रह का भार लगभग 575 पौंड (260 किलोग्राम) है। इनका निर्माण अमेरिका के सीएटल के रेडमोंड में किया गया था।

जब स्टार लिंक समूह में 800 से अधिक उपग्रह एक्टिवेट हो जायेगा, तब यह ऑपरेशनल हो जायेगा। स्टार लिंक प्रोजेक्ट के अंतर्गत स्पेस-एक्स ने अन्तरिक्ष में 12,000 संचार उपग्रह स्थापित करने की योजना बनाई है। इसके द्वारा विश्व भर में हाई-स्पीड इन्टरनेट की सुविधा प्रदान की जायेगी।

स्पेस एक्स

स्पेस एक्स एक निजी अमेरिकी अन्तरिक्ष एजेंसी है। इसकी स्थापना एलोन मस्क द्वारा 6 मई, 2002 को की गयी थी। एलोन मस्क स्पेस एक्स के वर्तमान सीईओ हैं। इस अन्तरिक्ष एजेंसी की स्थापना का प्रमुख उद्देश्य अन्तरिक्ष परिवहन की लागत कम करना तथा मंगल गृह पर मानव बस्ती की स्थापना करना है। स्पेस एक्स ने फाल्कन रॉकेट्स की श्रृंखला तैयार की है। अंतिरक्ष परिवहन की लागत को कम करने के लिए स्पेस एक्स ने री-यूजेबल रॉकेट्स (पुनः इस्तेमाल किये जा सकने वाले राकेट) निर्मित किये हैं। इन रॉकेट्स के अधिकत्तर हिस्सों को अन्य लांच में भी इस्तेमाल किया जाता है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

Advertisement