2019 में भारत की प्रति व्यक्ति राष्ट्रीय आय

दवा व क्लिनिकल ट्रायल नियम, 2019

केन्द्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय ने हाल ही में दवा व क्लिनिकल ट्रायल नियम, 2019 में अधिसूचना जारी है, इसका उद्देश्य देश में क्लिनिकल अनुसन्धान को बढ़ावा देना है।

मुख्य बिंदु

  • नए नियमों के तहत भारत में निर्मित दवा के लिए आवेदन को मंज़ूरी देने के लिए समय सीमा को 30 दिन कर दिया गया है, जबकि विदेश में निर्मित दवा के लिए यह समय सीमा 90 दिन है।
  • नए नियमों के अनुसार यदि ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ़ इंडिया (DCGI) द्वारा कोई संपर्क नहीं किया जाता तो आवेदन को स्वीकृत मान लिया जायेगा।
  • नए नियमों के तहत मरीजों की सुरक्षा भी सुनिश्चित की जायेगी। मरीजों को ट्रायल के बारे में सूचित किया जाएगा और एक नैतिक असमिति ट्रायल का मॉनिटर करेगी। ट्रायल में विपरीत परिणाम आने पर यह समिति क्षतिपूर्ति राशि भी निश्चित करेगी।
  • क्लिनिकल ट्रायल के दौरान मृत्यु, स्थायी अपंगता अथवा अन्य चोट के मामलों में क्षतिपूर्ती मामलों का निर्णय ड्रग कंट्रोलर जनरल द्वारा किया जाएगा।
  • यदि दवा अन्य देशों में मान्यता प्राप्त है तथा DCGI द्वारा सुनिश्चित देशों में बेची जाती है तो ऐसी स्थिति में स्थानीय क्लिनिकल ट्रायल की आवश्यकता नहीं है।
  • DCGI ने यूरोपीय संघ, यूनाइटेड किंगडम, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, जापान और अमेरिका में मान्यता प्राप्त दवाओं के लिए क्लिनिकल ट्रायल से छूट दी है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

भारत की विकास दर 2018-19 में 7.2% रहेगी : केन्द्रीय सांख्यिकी कार्यालय

हाल ही में केन्द्रीय सांख्यिकी कार्यालय ने 2018-19 के लिए अग्रिम अनुमान जारी किये, इन अनुमानों से सम्बंधित मुख्य बिंदु निम्नलिखित हैं :

  • 2018-19 में भारतीय अर्थव्यस्था की विकास दर 7.2% रहने का अनुमान है, 2017-18 में यह विकास दर 6.7% थी।
  • वर्तमान वित्त वर्ष में वास्तविक GVA (सकल संवर्धित मूल्य) की दर 7% रहने का अनुमान है, पिछले वर्ष यह दर 6.5% है।
  • वर्तमान वित्त वर्ष में कृषि, वानिकी तथा मतस्य पालन में विकास दर 3.8% रहने का अनुमान है, पिछले वर्ष यह दर 5.7% थी।
  • खनन क्षेत्र की विकास दर 2.9% से कम होकर 0.8% रहने का अनुमान लगाया गया है।
  • व्यापार, होटल, परिवहन, संचार तथा सेवाओं में इस वित्त वर्ष में 6.9% विकास दर रहने का अनुमान लगाया गया है, पिछले वर्ष यह विकास दर 8% थी।
  • सार्वजनिक प्रशासन, रक्षा तथा अन्य सेवाओं की विकास दर 10% से कम होकर 8.9% रह जायेगी।
  • विद्युत्, गैस तथा जल आपूर्ति क्षेत्र की विकास दर 9.4% रहने का अनुमान है, पिछले वर्ष यह दर 7.2% थी।
  • निर्माण क्षेत्र की विकास दर 5.7% बढ़कर 8.9% रहने का अनुमान लगाया गया है।
  • वित्त, रियल एस्टेट तथा व्यावसायिक सेवाओं की विकास दर 6.8% रहने का अनुमान लगाया गया है, पिछले वर्ष यह दर 6.6% थी।
  • केन्द्रीय सांख्यिकी कार्यालय के अनुसार प्रति व्यक्ति शुद्ध राष्ट्रीय 2019-19 के दौरान 1,25,397 होगी, इसमें पिछले वित्त वर्ष के मुकाबले 11.1% की वृद्धि आएगी। पिछले वर्ष यह 1,12,835 थी।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

Advertisement