A Primeminister to Remember : Memories of a Military Chief

“ए प्राइममिनिस्टर टू रीमेम्बर” पुस्तक का विमोचन किया गया

“ए प्राइममिनिस्टर टू रीमेम्बर: मेमोरीज ऑफ़ ए मिलिट्री चीफ” नामक पुस्तक का हाल ही में विमोचन किया गया, इस पुस्तक को नौसेना के पूर्व प्रमुख एडमिरल सुशील कुमार द्वारा लिखा गया है। यह पुस्तक पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी द्वारा लिए गये प्रमुख रक्षा निर्णयों पर आधारित है। एडमिरल सुशील कुमार 1998 से 2001 के बीच नौसेना प्रमुख रहे।

मुख्य बिंदु

एडमिरल सुशील कुमार द्वारा लिखित पुस्तक के अनुसार 1999 की कारगिल की लड़ाई श्री अटल बिहारी वाजपेयी की सबसे उत्कृष्ठ उपलब्धियों में से एक थी। उन्होंने सामरिक नुकसान को बेहतरीन विजय में परिवर्तित का श्रेय अटल बिहारी वाजपेयी को दिया है। श्री वाजपेयी ने सेना को LoC पार न करने का निर्देश दिया था, उन्होंने पाकिस्तानी घुसपैठियों को अपने क्षेत्र से बाहर करने के लिए कहा था।

इस पुस्तक में कहा गया है कि भारतीय संसद पर हुए हमले (13 दिसम्बर, 2001) के बाद श्री वाजपेयी पाकिस्तानी सेना के कैंप को नष्ट करना चाहते थे, परन्तु बाद में किन्ही कारणों से उन्हें इस योजना को टालना पड़ा।

एडमिरल सुशील कुमार के अनुसार तत्कालीन विदेश मंत्री जसवंत सिंह 9/11 हमले के बाद अमेरिका के अफ़ग़ानिस्तान पर युद्ध में अमेरिका को समर्थन देना चाहते थे, परन्तु सैन्य प्रमुख इस पर सहमत नहीं थे, श्री वाजपेयी ने सैन्य प्रमुखों के निर्णय का समर्थन किया था।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement