BS VI

बीएस VI वाहनों के लिए अलग-अलग कलर बैंड जारी किये गये

8 जून, 2020 को सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने BS VI वाहनों के नंबर प्लेट स्टिकर के लिए अलग कलर बैंड जारी किये ।

मुख्य बिंदु

यह आदेश बीएस VI वाहनों के लिए मौजूदा स्टीकर के उपर 1 से.मी. चौड़ाई की एक हरी पट्टी लगाना अनिवार्य बनाता है। स्टिकर में बीएस-VI वाहन के पंजीकरण और उसके ईंधन प्रकार विवरण होना चाहिए। पेट्रोल ईंधन वाहनों के स्टीकर में नारंगी रंग होना चाहिए और डीजल ईंधन वाहनों के स्टीकर में नीला रंग होना चाहिए।

भारत स्टेज उत्सर्जन मानक  (Bharat Stage Emission Standards)

यह भारत सरकार द्वारा स्थापित किया गया उत्सर्जन मानक है, यह यूरोपियन रेगुलेशन पर आधारित है। इसका उद्देश्य वाहनों द्वारा उत्सर्जित किये जाने वाले प्रदूषण को नियंत्रित करना है। भारत स्टेज के मानक व समय सीमा केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा निश्चित की जाती है। यह मानक देश में पहली बार वर्ष 2000 में शुरू किये गए थे। देश में नए वाहनों का निर्माण इन मानकों के आधार पर ही किया जाता है। अक्टूबर 2010 में भारत स्टेज III मानक पूरे देश में लागू किये गए थे, अप्रैल 2017 से पूरे देश में BS-IV पूरे देश में लागू किया गया। 2016 में सरकार ने घोषणा की थी देश में BS-V लागू नहीं होगा, इसके स्थान पर BS-VI ही लागू किया जायेगा। भारत सरकार की योजना 2020 से BS-VI मानक लागू करने की है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

बीएस-VI की L7 श्रेणी के उत्सर्जन मानदंड को अधिसूचित किया गया

24 मई, 2020 को सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने BS VI के लिए L7 श्रेणी के लिए उत्सर्जन मानदंडों को अधिसूचित किया। इस अधिसूचना के साथ, देश में बीएस VI प्रक्रिया L, M और N श्रेणी के वाहनों के लिए पूरी हो गयी।

मुख्य बिंदु

यह उत्सर्जन मानदंड क्वाड्रिसाइकल के उत्पादन को प्रोत्साहित करेंगे। भारत में क्वाड्रिसाइकल सेगमेंट लगभग 2 साल पहले पेश किया गया था। इसका उत्पादन अभी पूर्ण रूप से शुरू नहीं हुआ है।

क्वाड्रिसाइकल सेगमेंट 2018 में वाणिज्यिक और निजी उपयोग दोनों के लिए पेश किया गया था।

क्वाड्रिसाइकल क्या है?

क्वाड्रिसाइकल एक ऐसा वाहन है जो थ्री व्हीलर के आकार का होता है लेकिन चार पहियों से चलता है। मोटर वाहन अधिनियम, 1988 के तहत क्वाड्रिसाइकल को “गैर-परिवहन” के रूप में डाला गया था।

भारत में कार्गो परिवहन के लिए क्वाड्रिसाइकिल की अनुमति नहीं है। उन्हें जोरदार क्रेश टेस्ट से गुजरना पड़ता है और भारत न्यू व्हीकल सेफ्टी असेसमेंट प्रोग्राम के सुरक्षा मानदंडों को पूरा करना पड़ता है।

L7 श्रेणी

400 किलो से अधिक भार वाले चार पहियों वाले वाहनों को L7 श्रेणी में रखा गया है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement