CAPF

नॉर्थ ईस्ट मॉडल ने COVID-19 के खतरों को कम किया

COVID-19 का नॉर्थ ईस्ट मॉडल एक बड़ी सफलता रही है। इस मॉडल की सफलता के कारण क्षेत्र के 5 राज्यों को COVID-19 मुक्त क्षेत्र में घोषित किया गया है। इसमें मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, मिजोरम, सिक्किम और नागालैंड शामिल हैं।

मुख्य बिंदु

त्रिपुरा में विशेष रूप से CAPF (केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल) के बीच COVID-19 मामलों की संख्या में वृद्धि दर्ज की गयी थी। असम, इस क्षेत्र का सबसे बड़ा राज्य है, असम में इस बीमारी को सीमित किया गया।

मॉडल

केंद्र और राज्य सरकारो की त्वरित प्रतिक्रियाओं के कारण नॉर्थ ईस्ट मॉडल सफल रहा। वे प्रतिक्रियाएं इस प्रकार हैं  :

  • दवा और उपकरण एयर कार्गो और भारतीय वायु सेना द्वारा डिलीवर किये गये
  • परीक्षण सुविधाओं की संख्या बढ़ाई गई
  • प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत सार्वजनिक वितरण प्रणाली के माध्यम से आवश्यक आपूर्ति उपलब्ध कराई गई।

हालांकि, ये सफलता के प्रमुख कारण थे। अन्य कारक भी हैं। वे इस प्रकार हैं :

सिक्किम और नागालैंड में परीक्षण सुविधाएं नहीं थीं जबकि असम में केवल 2 परीक्षण सुविधाएं थीं। TrueNAT परीक्षण सुविधा सिक्किम में शुरू की गई थी। ट्रुनेट एक मशीन है जिसका उपयोग तपेदिक के परीक्षण के लिए किया जाता है। अप्रैल, 2020 में COVID-19 मामलों का परीक्षण करने के लिए इसे ICMR द्वारा अनुमोदित किया गया था।

रेड आर्मी

रेड आर्मी का गठन नॉर्थ ईस्ट में हुआ था। इसमें बुद्धिमान वृद्ध पुरुष और महिलाएं शामिल थीं जो गांवों की मदद करते हैं और ग्रामीणों के बीच उनका बहुत सम्मान है। इससे आदिवासियों तक आसानी से पहुंचने में मदद मिली जो उत्तर पूर्वी राज्यों को COVID-19 मुक्त बनाने में प्रमुख योगदान था।

लाइफलाइन उड़ान

आवश्यक वस्तुओं और मेडिकल कार्गो प्रदान करने के लिए लाइफलाइन उड़ान योजना शुरू की गई थी। इस योजना ने व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण, दस्ताने और मास्क की आपूर्ति की।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने पुलिस संगठनों के बारे में डाटा जारी किया

हाल ही में केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने 24 अक्टूबर, 2019 को पुलिस संगठनों के बारे में डाटा जारी किये, यह डाटा पुलिस के विश्लेषण के लिए महत्वपूर्ण है।

रिपोर्ट के मुख्य बिंदु

  • 2017 से पुलिस कर्मचारियों की संख्या में वृद्धि हुई है, पुलिस कर्मचारियों की संख्या में 19,686 की वृद्धि हुई है। केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (CAPF) की संख्या में 16,051 की वृद्धि हुई है।
  • महिला पुलिस कर्मचारियों की संख्या में 20.95% की वृद्धि हुई है। वर्तमान में विभिन्न पदों पर 1,69,550 महिला पुलिस कर्मचारी/अधिकारी कार्यरत्त हैं।
  • पुलिस बलों के प्रशिक्षण पर किये जाने वाले व्यय में 20.41% की वृद्धि हुई है।
  • पुलिस जनसँख्या अनुपात 192.95 पुलिस कर्मचारी प्रति लाख व्यक्ति है।
  • पुलिस कर्मचारियों के लिए 20,149 फैमिली क्वार्टर्स निर्मित किये गये हैं।
  • पुलिस स्टेशनों की संख्या 15,579 से बढ़कर 16,422 हो गयी है।
  • साइबर पुलिस स्टेशनों की संख्या 84 से बढ़कर 120 हो गयी है।
  • निगरानी के लिए 2,10,278 नए सीसीटीव कैमरे स्थापित किये गये हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement