CRPF

27 जुलाई: सीआरपीएफ स्थापना दिवस

CRPF को 27 जुलाई, 1939 को अंग्रेजों के अधीन क्राउन प्रतिनिधि पुलिस के रूप में स्थापित किया गया था। फिर इसे 1949 में सरदार वल्लभाई पटेल के नेतृत्व में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के रूप में बदल दिया गया।

मुख्य बिंदु

27 जुलाई, 2020 को 82वां सीआरपीएफ स्थापना दिवस भारत में मनाया जा रहा है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह नई दिल्ली में सीआरपीएफ मुख्यालय का दौरा करेंगे। मंत्री उन शहीदों को भी श्रद्धांजलि देंगे जहां उनकी ओर से मध्य प्रदेश के नीमच शहर में एक माल्यार्पण किया जाएगा। इस शहर में पहली सीआरपीएफ बटालियन की स्थापना की गयी थी।

सीआरपीएफ में 3.25 लाख पुलिस कर्मी शामिल हैं। बल में तीन मुख्य लड़ाकू थिएटर हैं। वे कश्मीर घाटी में आतंकवाद विरोधी अभियान, वामपंथी उग्रवाद प्रभावित क्षेत्रों में नक्सल विरोधी अभियान और उत्तर पूर्वी राज्यों में काउंटर इंसर्जेंसी हैं।

CRPF

सेंट्रल पुलिस रिजर्व फोर्स भारत की सबसे बड़ी सशस्त्र सेना है। यह गृह मंत्रालय के अधीन कार्य करता है। क्राउन रिप्रजेंटेटिव फोर्स को CRPF एक्ट, 1949 के तहत CRPF बनाया गया था। 2008 में नक्सली मूवमेंट का मुकाबला करने के लिए COBRA (कमांडो बटालियन फॉर रिजॉल्यूट एक्शन) नामक एक विंग को CRPF में जोड़ा गया था। इस बल को श्रीलंका, लाइबेरिया जैसे अंतरराष्ट्रीय मिशनों के लिए भी तैनात किया गया है। उन्हें संयुक्त राष्ट्र के शांति अभियानों के लिए भी भेजा गया है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

9 अप्रैल को मनाया गया CRPF शौर्य दिवस

आज केन्द्रीय रिज़र्व पुलिस बल (CRPF) का 54वां शौर्य दिवस है। 9 अप्रैल, 1965 के दिन CRPF की एक छोटी टुकड़ी ने पाकिस्तान ब्रिगेड के आक्रमण को विफल कर दिया था। दरअसल गुजरात के कच्छ के रण में CRPF ने पाकिस्तान के हमले को नाकाम करते हुए  34 पाकिस्तानी सैनिकों को मार गिराया था। इस लड़ाई में CRPF के 6 जवान शहीद हुए थे।

केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF)

सीआरपीएफ कुल 246 बटालियनों के साथ भारत में सबसे बड़ी केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल या अर्धसैनिक बल है। यह गृह मंत्रालय (MHA) के तहत काम करता है। यह 1939 में क्राउन प्रतिनिधि पुलिस के तहत स्थापित किया गया था, लेकिन आजादी के बाद, इसे सीआरपीएफ अधिनियम, 1949 से सांविधिक पुलिस बल बनाया गया था।

इसका लक्ष्य सरकार को कानून, सार्वजनिक आदेश और आंतरिक सुरक्षा को प्रभावी ढंग से और कुशलता से बनाए रखने, राष्ट्रीय अखंडता को संरक्षित करने और संविधान की सर्वोच्चता को कायम रखकर सामाजिक सद्भाव और विकास को बढ़ावा देना है।

कानून व्यवस्था बनाए रखने और विद्रोह को नियंत्रित करने के लिए पुलिस परिचालन में राज्यों / संघ शासित प्रदेशों की सहायता करना इसकी प्राथमिक भूमिका है। नक्सली विरोधी अभियानों के अलावा, सीआरपीएफ कर्मियों ने आतंकवादी हमलों, आतंकवाद विरोधी अभियानों जैसे संकटों की स्थिति में कई परिचालन किए हैं, जो आतंकवादी हमलों के दौरान नागरिकों का  बचाव करते हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

Advertisement