CRPF

9 अप्रैल को मनाया गया CRPF शौर्य दिवस

आज केन्द्रीय रिज़र्व पुलिस बल (CRPF) का 54वां शौर्य दिवस है। 9 अप्रैल, 1965 के दिन CRPF की एक छोटी टुकड़ी ने पाकिस्तान ब्रिगेड के आक्रमण को विफल कर दिया था। दरअसल गुजरात के कच्छ के रण में CRPF ने पाकिस्तान के हमले को नाकाम करते हुए  34 पाकिस्तानी सैनिकों को मार गिराया था। इस लड़ाई में CRPF के 6 जवान शहीद हुए थे।

केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF)

सीआरपीएफ कुल 246 बटालियनों के साथ भारत में सबसे बड़ी केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल या अर्धसैनिक बल है। यह गृह मंत्रालय (MHA) के तहत काम करता है। यह 1939 में क्राउन प्रतिनिधि पुलिस के तहत स्थापित किया गया था, लेकिन आजादी के बाद, इसे सीआरपीएफ अधिनियम, 1949 से सांविधिक पुलिस बल बनाया गया था।

इसका लक्ष्य सरकार को कानून, सार्वजनिक आदेश और आंतरिक सुरक्षा को प्रभावी ढंग से और कुशलता से बनाए रखने, राष्ट्रीय अखंडता को संरक्षित करने और संविधान की सर्वोच्चता को कायम रखकर सामाजिक सद्भाव और विकास को बढ़ावा देना है।

कानून व्यवस्था बनाए रखने और विद्रोह को नियंत्रित करने के लिए पुलिस परिचालन में राज्यों / संघ शासित प्रदेशों की सहायता करना इसकी प्राथमिक भूमिका है। नक्सली विरोधी अभियानों के अलावा, सीआरपीएफ कर्मियों ने आतंकवादी हमलों, आतंकवाद विरोधी अभियानों जैसे संकटों की स्थिति में कई परिचालन किए हैं, जो आतंकवादी हमलों के दौरान नागरिकों का  बचाव करते हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

पुलवामा हमले में शहीद CRPF जवानों की स्मृति में स्मारक का उद्घाटन किया गया

पुलवामा के लेथपोरा कैंप में पुलवामा हमले में शहीद 40 CRPF जवानों की स्मृति में निर्मित स्मारक का हाल ही में उद्घाटन किया गया। इस स्मारक में CRPF के 40 शहीद जवानों के चित्र लगाये हैं, इसमें शहीदों के नाम अंकित हैं। इस स्मारक में CRPF का आदर्श वाक्य ‘सेवा व निष्ठां’ भी लिखा गया है।

पृष्ठभूमि

14 फरवरी, 2019 को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में CRPF के जवानों पर आतंकी हमला किया गया था, इस हमले में CRPF के 40 जवान शहीद हुए। इस हमले की ज़िम्मेदारी इस्लामिक आतंकवादी संगठन जैश-ए-मुहम्मद ने ली। इस हमले में पुलवामा के आदिल अहमद डार नामक आतंकवादी ने विस्फोटकों से भरी हुई गाड़ी को CRPF की बस से साथ टकराया था, जिसके कारण भयानक विस्फोट हुआ और जिसमे CRPF के 40 जवान शहीद हुए।

एयरस्ट्राइक

पुलवामा में आतंकी हमले के पश्चात् भारत ने पाकिस्तान में आतंकी ठिकानों को नष्ट करने के लिए बालाकोट में एयरस्ट्राइक की थी। इस एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों ने जम्मू-कश्मीर में घुसपेठ करने का प्रयास किया। पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों को रोकने के लिए विंग कमांडर अभिनन्दन को मिग-21 लड़ाकू विमान में भेजा गया। विंग कमांडर अभिनन्दन ने बेहद पुराने मिग 21 लड़ाकू विमान से पाकिस्तान के आधुनिक लड़ाकू विमान F-16 को मार गिराया, इस दौरान अभिनन्दन भी दुर्घटना का शिकार हो गये और उनका विमान पाक-अधिकृत कश्मीर में जा गिरा। यह घटना 27 फरवरी को हुई थी। उन्हें पाकिस्तानी सेना द्वारा गिरफ्तार किया गया, परन्तु बाद में उन्हें भारत को सौंपा गया था।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement