CVC

सतर्कता जागरूकता सप्ताह 2019 शुरू हुआ

केन्द्रीय सतर्कता आयोग प्रतिवर्ष सरदार वल्लभ भाई पटेल के जन्म वाले सप्ताह को सतर्कता जागरूकता सप्ताह के रूप में मनाता है, सरदार पटेल का जन्म दिवस 31 अक्टूबर को मनाया जाता है। इस वर्ष सतर्कता जागरूकता सप्ताह 28 अक्टूबर से 2 नवम्बर, 2019 के बीच मनाया जा रहा है।

इस वर्ष की थीम “सत्यनिष्ठा-एक जीवन पद्धति” है।

गतिविधियां

केन्द्रीय सतर्कता आयोग ने केंद्र सरकार के मंत्रालय तथा संगठनों को इस सप्ताह के दौरान विभिन्न गतिविधियों का आयोजन करने के लिए कहा है। इस सप्ताह की मुख्य गतिविधियाँ निम्नलिखित हैं :

  • सभी कर्मचारियों द्वारा सत्यनिष्ठा की शपथ लेना।
  • भ्रष्टाचार को रोकने के लिए सतर्कता गतिविधियों तथा विस्सल ब्लोअर मैकेनिज्म के लिए  पम्फ्लेट्स वितरण।
  • कर्मचारियों के लिए भ्रष्टाचार की रोकथाम पर कार्यशाला का आयोजन।
  • जागरूकता फैलाने, सिस्टेमेटिक सुधार  के लिए पत्रिका तथा न्यूज़लैटर का प्रकाशन। भ्रष्टाचार विरोधी मुद्दों पर प्रश्नोत्तरी तथा परिचर्चा का आयोजन।

स्कूलों में इंटीग्रिटी क्लब्स

इस सप्ताह के दौरान स्कूलों तथा कॉलेज में इंटीग्रिटी क्लब्स की स्थापना की जाएगी, इसका उद्देश्य छात्रों में भविष्य के नेताओं के रूप में तैयार करना है।

ग्राम सभा जागरूकता

ग्राम सभा जागरूकता का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को भ्रष्टाचार के कुप्रभावों के बारे में जागरूक करवाना है। वर्ष 2017 में सतर्कता जागरूकता सप्ताह के दौरान 67,131 ग्राम सभाओं का आयोजन किया गया था।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

शरद कुमार बने अंतरिम सतर्कता आयुक्त

शरद कुमार को अंतरिम केन्द्रीय सतर्कता आयुक्त नियुक्त किया गया है।  शरद कुमार राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) के पूर्व अध्यक्ष रह चुके हैं। शरद कुमार हरियाणा कैडर से 1979 बैच के आईपीएस अधिकारी है। वे एनआईए में अध्यक्ष पद पर चार साल तक अपनी सेवाएँ देने के बाद सितंबर 2017 में सेवानिवृत्त हुए थे।

केंद्रीय सतर्कता आयोग (CVC)

केन्द्रीय सतर्कता आयोग सरकारी भ्रष्टाचार को संबोधित करने के लिए गठित किया गया केंद्र सरकार का सर्वोच्च सरकारी निकाय है। यह आयोग भ्रष्टाचार रोकथाम के लिए के. संथनम समिति की सिफारिशों पर फरवरी 1964 में केंद्र सरकार द्वारा स्थापित किया गया था। केन्द्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) अधिनियम, 2003 के प्रावधानों के अनुसार इसकी स्थिति वैधानिक स्वायत्त निकाय की है, और यह किसी भी कार्यकारी प्राधिकारी से  नियंत्रण मुक्त है। यह निकाय केंद्र सरकार के तहत सभी सतर्कता गतिविधियों पर नज़र रखता है और केंद्र सरकार के संगठनों में विभिन्न प्राधिकारी वर्गों को सतर्कता कार्य की योजना बनाने, उनके निष्पादन, समीक्षा और सुधार करने में भी मदद करता है। सीवीसी की अध्यक्षता केंद्रीय सतर्कता आयुक्त द्वारा की जाती है और इसमें दो सतर्कता आयुक्त होते हैं. जिन्हें चयन समिति की सिफारिशों पर राष्ट्रपति द्वारा नियुक्त किया जाता है इस समिती में सभापति के रूप में प्रधानमंत्री, केंद्रीय गृह मंत्री और लोकसभा में दूसरी सबसे बड़ी पार्टी के नेता या संसद में बहुमत समूह के नेता शामिल होते है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

Advertisement