fake news in india

गूगल ने भारत में फेक न्यूज़ के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए एक मिलियन डॉलर की ग्रांट की घोषणा की

31 जनवरी, 2020 को गूगल ने भारत में लोगों के बीच समाचार साक्षरता बढ़ाने के लिए एक मिलियन डॉलर की ग्रांट की घोषणा की। इसके अलावा गूगल ने ‘Tangi’ नामक एप्लीकेशन भी लांच की है।

ग्रांट

गूगल न्यूज़ इनिशिएटिव ने भारत में समाचार साक्षरता को बेहतर बनाने के लिए एक मिलियन डॉलर का योगदान देने का निर्णय लिया है। इस ग्रांट का उपयोग देश ने फेक न्यूज़ उत्पादकों के विरुद्ध एक मज़बूत नेटवर्क का निर्माण करने में किया जाएगा। पत्रकार, शिक्षाविद इत्यादि को प्रशिक्षित करने के लिए 300 वर्कशॉप, बूट कैंप तथा सेशंस का आयोजन किया जाएगा। यह प्रशिक्षण 7 भारतीय भाषाओँ में दिया जाएगा।

Tangi एप्लीकेशन

गूगल की Tangi एप्लीकेशन ‘डो इट योरसेल्फ’ वीडियोस पर फोकस करती है, इसका नाम ‘TeAch aNd Give’ से बनाया गया है।

इसके अलावा गूगल किलर व्हेल्स की आवाज़ को सुनकर उनकी लोकेशन का पता लगाने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मॉडल का उपयोग कर रहा है। इस प्रकार के मॉडल को कनाडा में स्थापित किया गया है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

सरकार ने फेक न्यूज़ रोकने के लिए ‘फैक्ट चेक मोड्यूल’ की स्थापना का निर्णय लिया

केंद्र सरकार ने फेक न्यूज़ पर रोक लगाने के लिए ‘फैक्ट चेक मोड्यूल’ की स्थापना का निर्णय लिया है। इसका उद्देश्य सोशल मीडिया तथा डिजिटल प्लेटफार्म पर मौजूद फेक न्यूज़ की घटनाओं को चिन्हित करना है। इसका गठन केन्द्रीय सूचना व प्रसारण मंत्रालय के अधीन किया जायेगा।

फैक्ट चेक मोड्यूल

इसका उद्देश्य सरकार तथा सरकारी एजेंसियों के विरुद्ध फैलने वाले नकली/असत्य समाचारों की वास्तविक को स्पष्ट करना है। इसके द्वारा ऑनलाइन तथा डिजिटल कंटेंट पर फोकस किया जायेगा। शुरू में इस पर सूचना सेवा अधिकारियों द्वारा कार्य किया जायेगा।

यह फाइंड, अस्सेस, क्रिएट तथा टारगेट (FACT) के सिद्धांत पर कार्य करेगा। इसके तहत ऑनलाइन उपलब्ध समाचार स्त्रोत तथा सोशल मीडिया पोस्टों की मॉनिटरिंग की जायेगी।

पृष्ठभूमि

सोशल मीडिया तथा डिजिटल प्लेटफॉर्म्स पर फेक न्यूज़ की बढ़ती घटनाओं के चलते सरकार ने ‘फैक्ट चेक मोड्यूल’ की स्थापना का निर्णय लिया है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement