HNLC

केंद्र सरकार ने मेघालय बेस्ड उग्रवादी संगठन हायनीट्रेप नेशनल लिबरेशन काउंसिल पर प्रतिबंध लगाया

केंद्र सरकार ने मेघालय बेस्ड उग्रवादी संगठन हायनीट्रेप नेशनल लिबरेशन काउंसिल (HNLC) पर प्रतिबंध लगा दिया है। यह प्रतिबन्ध हिंसात्मक गतिविधियों तथा अग्रवादी गतिविधियों के कारण लगाया गया है। केंद्र द्वारा जारी अधिसूचना में कहा गया है कि HNLC की गतिविधियाँ भारत की एकता तथा संप्रभुता के लिए हानिकारक है। इससे पहले 16 नवम्बर, 2000 को HNLC को प्रतिबंधित संगठन घोषित किया गया था।

HNLC पर प्रतिबन्ध क्यों लगाया गया है?

केन्द्रीय गृह मंत्रालय द्वारा जारी अधिसूचना में सभी धड़ों समेत HNLC पर प्रतिबन्ध लगाया गया है। HNLC अलगाववादी गतिविधियों में शामिल रहा है। इसके अलावा HNLC लोगों से ज़बरन वसूली भी करता है। HNLC उत्तर-पूर्व के अन्य उग्रवादी समूहों से जुड़ा हुआ है। उग्रवादियों को प्रशिक्षण देने के लिए बांग्लादेश में HNLC के कैंप भी हैं।

हालिया गतिविधियाँ : 1 जनवरी, 2015 से 31 जुलाई, 2019 के बीच HNLC के 16 सदस्यों को गिरफ्तार किया गया तथा उनसे चार हथियार भी रिकवर किया गया। HNLC चार लोगों के अपहरण तथा एक व्यक्ति की हत्या में भी शामिल था।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement