IIT खड़गपुर

पांच संस्थानों को इंस्टिट्यूट ऑफ़ एमिनेंस का दर्जा दिया दिया

केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने ‘इंस्टिट्यूट ऑफ़ एमिनेंस’ में पांच सार्वजनिक शिक्षण संस्थानों को शामिल किया गया है, यह संस्थान हैं : IIT मद्रास, IIT खड़गपुर, दिल्ली विश्वविद्यालय तथा हैदराबाद विश्वविद्यालय।

निजी शिक्षण संस्थानों को इंस्टिट्यूट ऑफ़ एमिनेंस का स्टेटस प्रदान करने के लिए चार विश्व विद्यालयों को ‘लैटर ऑफ़ इंटेंट’ जारी किये गये, यह विश्वविद्यालय हैं : वेल्लोर इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी, अमृता विश्व विद्यापीठम, जामिया हमदर्द यूनिवर्सिटी तथा कलिंगा इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडस्ट्रियल टेक्नोलॉजी।

मुख्य बिंदु

इंस्टिट्यूट ऑफ़ एमिनेंस का उद्देश्य 20 विश्वस्तरीय संस्थानों को विकसित करना है और भारत को विश्व शिक्षा मानचित्र पर स्थापित करना है। इंस्टिट्यूट ऑफ़ एमिनेंस को फीस, कोर्स अवधि इत्यादि के लिए काफी अधिक स्वायत्तता दी जायेगी। सार्वजनिक संस्थानों को 1000 करोड़ रुपये की ग्रांट की जायेगी, परन्तु निजी संस्थानों को किसी भी किस्म की फंडिंग नहीं दी जाएगी।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , ,

IIT खड़गपुर और अमेज़न वेब सर्विसेज ने ‘नेशनल आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस रिसोर्स पोर्टल’ लांच किया

IIT खड़गपुर ने अमेज़न वेब सर्विसेज के साथ मिलकर ‘नेशनल आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस रिसोर्स पोर्टल’ (NAIRP) लांच किया है। इसका उद्देश्य आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के अध्ययन तथा विकास को बढ़ावा देना है।

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI)

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (कृत्रिम बुद्धि) कंप्यूटर साइंस की वह शाखा है जिसके द्वारा मशीनों में इंसानों की तरह सोचने समझने की क्षमता विकसित की जाती है। AI मशीने वातावरण के अनुसार खुद को ढालने में सक्षम होती हैं।

IIT खड़गपुर

IIT खड़गपुर की स्थापना – 1951 में की गयी थी, यह पश्चिम बंगाल के खड़गपुर में स्थित है। IIT खड़गपुर के चेयरमैन संजीव गोएंका हैं। IIT खड़गपुर का आदर्श वाक्य योगः कर्मसु कौशलम् है। IIT खड़गपुर  के कुछ प्रमुख एलुमनाई सुन्दर पिचाई, अरविन्द केजरीवाल, डी. सुब्बाराव, के. राधाकृष्णन तथा अरुण सरीन इत्यादि हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement