JCPOA

ईरान JCPOA से अलग हुआ

5 जनवरी, 2020 को ईरान JCPOA (Joint Comprehensive Plan of Action) परमाणु समझौते से अलग हो गया है। अमेरिका द्वारा जनरल कासिम सोलेमानी को मारे जाने के बाद यह फैसला लिया गया है।

2018 में अमेरिका इस परमाणु समझौते से अलग हुआ था। परन्तु रूस, चीन, यूरोपीय संघ, फ्रांस, जर्मनी और यूनाइटेड किंगडम ने इस समझौते को सक्रिय रखने का प्रयास किया था। इस समझौते के तहत ईरान से प्रतिबन्ध में छूट के बदले अपने परमाणु कार्यक्रम पर रोग लगाने पर सहमत प्रकट की थी।

जॉइंट कॉम्प्रेहेंसिव प्लान ऑफ़ एक्शन (JCPOA)

इस परमाणु समझौते को ईरान के परमाणु कार्यक्रम को रोकने के लिए तैयार किया गया था। इस डील के तहत ईरान को एनरिचड यूरेनियम को विदेशों में बेचना पड़ता है, व इसका उपयोग परमाणु हथियारों के लिए नहीं कर सकता है। ईरान ने इस सौदे के तहत अपनी परमाणु गतिविधियों को सीमित करने के लिए सहमती प्रकट की थी।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

ईरान ने जॉइंट कॉम्प्रेहेंसिव प्लान ऑफ़ एक्शन (JCPOA) की सीमाओं का पालन न करने की घोषणा की

ईरान ने 2015 की परमाणु डील में निश्चित की गयी सीमाओं का पालन न करने की घोषणा की है। ईरान की परमाणु डील को जॉइंट कॉम्प्रेहेंसिव प्लान ऑफ़ एक्शन (JCPOA) कहा जाता है। इस डील पर अमेरिका के अलावा यूनाइटेड किंगडम, फ्रांस, जर्मनी, चीन और रूस ने हस्ताक्षर किये थे।

जॉइंट कॉम्प्रेहेंसिव प्लान ऑफ़ एक्शन (JCPOA)

ईरान ने इन हस्तारक्षरकर्ता देशों को ईरान के तेल व बैंकिंग सेक्टर की सुरक्षा के लिए 60 दिन का अल्टीमेटम दिया है। इस परमाणु समझौते को ईरान के परमाणु कार्यक्रम को रोकने के लिए तैयार किया गया था। इस डील के तहत ईरान को एनरिचड यूरेनियम को विदेशों में बेचना पड़ता है, व इसका उपयोग परमाणु हथियारों के लिए नहीं कर सकता है। ईरान ने इस सौदे के तहत अपनी परमाणु गतिविधियों को सीमित करने के लिए सहमती प्रकट की थी।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

Advertisement