mahatma gandhi

प्रवासी तीर्थ दर्शन योजना

प्रधानमंत्री नरेंद मोदी ने  हाल ही में प्रवासी तीर्थ दशन योजना लांच की, इस योजना की मुख्य विशेषताएं निम्नलिखित हैं:

  • इस योजना के तहत भारतीय मूल को लोगों को वर्ष में दो बार सरकार द्वारा प्रायोजित धार्मिक स्थलों की यात्रा पर ले जाया जायेगा।
  • चुने गये लोगों को भारत के सभी बड़े धार्मिक स्थलों के दर्शन करवाए जायेंगे।
  • सरकार इन यात्राओं का खर्च उठाएगी (जिस देश में वे निवास करते हैं, वहां से भारत तक का हवाई किराया भी सरकार द्वारा दिया जायेगा)
  • इस योजना का लाभ केवल भारतीय मूल के 45-65 वर्ष के लोग उठा सकते हैं।
  • इस योजना के तहत गिरमिटिया देशों के लोगों को प्राथमिकता दी जायेगी।

गिरमिटिया देश

गिरमिटिया उन भारतीय श्रमिकों के वंशज हैं जिन्हें यूरोपीय उपनिवेशक गन्ने की खेती के लिए फिजी, मॉरिशस, दक्षिण अफिर्चा, मलय प्रायद्वीप, कैरिबियन तथा दक्षिण अमेरिका ले गये थे। गिरमिटिया शब्द का पहली बार उपयोग गांधीजी ने किया था, वे स्वयं को प्रथम गिरमिटिया मानते थे।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , , ,

वर्धा में किया गया गांधीवादी विचारधारा व स्वच्छता पर सेमिनार का आयोजन

केन्द्रीय पेयजल तथा स्वच्छता मंत्रालय ने भारत को 2019-20 तक देश को “स्वच्छ भारत” बनाने के लिए गांधीवादी विचारधारा तथा स्वच्छता पर सम्मेलन का आयोजन किया।

मुख्य बिंदु

  • इस सम्मलेन का आयोजन महाराष्ट्र के वर्धा जिले में किया गया, इस सम्मेलन में स्वच्छता भारत अभियान के तहत स्वच्छता के क्षेत्र में प्राप्त उपलब्धियों पर फोकस किया गया।
  • इस सम्मेलन में चर्चा के मुख्य बिंदु ग्रामीण स्वच्छता में उचित तकनीक, जैविक कचरा प्रबंधन तथा निवारक स्वच्छता हैं।
  • इसका मुख्य विषय गांधीजी का “स्वच्छ एवं स्वावलंबी संकुल” था।
  • इस सम्मेलन का समापन सेवाग्राम आश्रम की यात्रा के साथ हुआ, इया यात्रा का उद्देश्य गांधीजी के जीवन से अनुभव प्राप्त करना था।

स्वच्छ भारत अभियान के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य

इस प्रोग्राम को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2019 तक भारत को स्वच्छ बनाने के उद्देश्य से लांच किया था। स्वच्छ भारत अभियान 2 अक्टूबर 2014 को लांच किया गया था।इसके दो उप-अभियान हैं – स्वच्छ भारत अभियान (ग्रामीण) तथा स्वच्छ भारत अभियान (शहरी)। इस अभियान के प्रबंधन केन्द्रीय पेयजल व स्वच्छता मंत्रालय तथा केन्द्रीय शहरी विकास मंत्रालय द्वारा संयुक्त रूप से किया जाता है।

इस अभियान के मुख्य भाग शौचालयों का निर्माण, सामुदायिक शौचालयों का निर्माण, ठोस कचरा प्रबंधन, जन जागरूकता, क्षमता निर्माण इत्यादि हैं। लांच के बाद इस अभियान के द्वारा स्वच्छता के स्तर में काफी वृद्धि हुई है। यह एक जन आन्दोलन है, 2014 में ग्रामीण स्वच्छता कवरेज 39% थी, जबकि वर्तमान में यह बढ़कर 95% तक पहुँच गयी है।

 

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement