MSME

1 जुलाई तक ECLGS के तहत बैंकों ने 1.10 लाख करोड़ रुपये से अधिक के ऋण स्वीकृत किये

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आपातकालीन क्रेडिट लाइन गारंटी योजना (ECLGS) की घोषणा आत्मनिर्भर भारत पैकेज के एक हिस्से के रूप में  सूक्ष्म लघु और मध्यम उद्यम (एमएसएमई) के समर्थन के लिए की थी।

1 जुलाई, 2020 तक सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों और देश भर में निजी बैंकों ने ECLGS के तहत 1.10 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा ऋण मंजूर किये है। इस 1.10 लाख करोड़ रुपये में से 52,000 करोड़ रुपये 1 जुलाई, 2020 तक वितरित किये जा चुके हैं।

जिन 52000 करोड़ रुपये का वितरण किया गया है, उनमें से सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों ने 33,000 करोड़ रुपये का वितरण किया है। इस 33,000 करोड़ रुपये को पूरे देश में लगभग 12,59,000 MSMEs के लिए वितरित किया गया था। लगभग 1,45,000 MSME को निजी बैंकों द्वारा शेष 19,000 करोड़ रुपये का वितरण किया गया था।

इमरजेंसी क्रेडिट लाइन गारंटी योजना (ECLGS) क्या है?

देशव्यापी लॉकडाउन के बाद, यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण था कि देश भर में एमएसएमई और अन्य व्यवसायों की तरलता संबंधी चिंताओं को सरकार द्वारा दूर किया जाए। ECLGS ने MSMEs को अपने व्यवसायों को फिर से शुरू करने के लिए आवश्यक क्रेडिट प्रदान किया है।

ECLGS के तहत, बैंकों को प्रोत्साहन दिया गया ताकि देश भर में MSME और व्यवसायों को 3 लाख करोड़ रुपये तक का ऋण प्रदान किया जा सके। नेशनल क्रेडिट गारंटी ट्रस्टी कंपनी (NCGTC) ECLGS के तहत बैंकों द्वारा स्वीकृत ऋण के लिए 100 प्रतिशत गारंटी प्रदान करेगी।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

27 जून : सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग दिवस

सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग दिवस (MSME) प्रत्येक वर्ष 27 जून को वैश्विक स्तर पर मनाया जाता है। अप्रैल 2017 में इसकी स्थापना के बाद इस वर्ष इसका दूसरा संस्करण आयोजित किया गया। इस दिवस के बहुआयामी उड़ेश्यों में युवा रोजगार में एमएसएमई के महत्व का औचित्य रखना, उचित नौकरियों को हासिल करने के लिए युवाओं को उनमें होने वाले आवश्यक विभिन्न कौशलों के बारे में जागरूक करना और युवा उद्यमशीलता के बारे में जागरूकता बढ़ाना शामिल है।

सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग का महत्व

MSME विकास के लिए प्रमुख रोजगार प्रदाता के रूप में मुख्य स्त्रोत का कार्य करता हैं। यह मुख्यत: सतत विकास लक्ष्यों (SDGs) को साकार करने पर ज़ोर देता है। यह सभी के लिए नवाचार, रचनात्मकता और उचित काम को प्रवर्तित करता है. उभरते व्यापारों में बनाए गए पांच नए औपचारिक रोजगारों में से चार एमएसएमई के बीच हैं। एमएसएमई श्रमिकों के कमजोर क्षेत्र जैसे महिलाओं, युवाओं और गरीब परिवारों के लोगों के बड़े हिस्से को रोजगार देता हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में एमएसएमई कभी-कभी रोजगार का एकमात्र स्रोत ही होता हैं।

संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) द्वारा संकल्प ए/आरईएस/71/279 के माध्यम से लघु व्यवसाय पहुंच में सुधार की आवश्यकता को पहचानने के लिए सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग दिवस की स्थापना की गई. यह संकल्प अर्जेंटीना के प्रतिनिधिमंडल द्वारा पेश किया गया था तथा 54 सदस्य राज्यों द्वारा इसे सह-प्रायोजित भी किया गया था और इसे अप्रैल 2017 में 193 सदस्यीय यूएनजीए द्वारा मतदान के बिना अपनाया गया था।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement