NDMA

नागपुर में राष्ट्रीय आपदा अनुक्रिया बल (NDRF) अकैडमी की स्थापना की जायेगी

केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने राष्ट्रीय आपदा अनुक्रिया बल (NDRF) अकैडमी की आधारशिला महाराष्ट्र के नागपुर में रखी। इस अकैडमी में सभी प्रकार की आपदाओं से निपटने के लिए प्रशिक्षण दिया जाएगा। राष्ट्रीय आपदा अनुक्रिया बल (NDRF)  की स्थापना 2006 में की गयी थी, यह आपदाओं से निपटने का कार्य करता है।

राष्ट्रीय आपदा अनुक्रिया बल (NDRF)

NDRF आपदा के समय त्वरित क्रिया करने वाला बल है, इसकी स्थापना वर्ष 2006 में आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 के अंतर्गत की गयी थी। NDRF का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है। यह केन्द्रीय गृह मंत्रालय के अंतर्गत कार्य करता है। NDRF के लिए नीति, योजना तथा दिशेनिर्देश का निर्माण राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA) द्वारा किया जाता है।

NDRF प्राकृतिक आपदा, मानव निर्मित आपदा, दुर्घटना अथवा आपातकाल के दौरान राहत व बचाव कार्य करता है। इस दौरान जान-माल की रक्षा के लिए NDRF स्थानीय एजेंसियों के साथ मिलकर कार्य करता है। वर्तमान में NDRF के 12 बटालियन देश के अलग-अलग हिस्सों में नियुक्त की गयी हैं।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

सुभाष चन्द्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार के लिए नामांकन मांगे गये

सुभाष चन्द्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार के लिए नामांकन मांगे गये, इसके लिए आवेदन की अंतिम तिथि 30 सितम्बर, 2019 है। इस पुरस्कार के लिए किसी भारतीय नागरिक अथवा संगठन द्वारा ऑनलाइन “dmawards.ndma.gov.in” वेबसाइट पर आवेदन किया जा सकता है।

सुभाष चन्द्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार

सुभाष चन्द्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार के द्वारा उन व्यक्तियों तथा संस्थानों को सम्मानित किया जायेगा जिन्होंने ने आपदा प्रबंधन में देश में बेहतरीन कार्य किया है। इस पुरस्कार का उद्देश्य उन लोगों व संगठनों के प्रयासों को सम्मानित करना है, जिन्होंने आपदा के दौरान लोगों की सहायता की है।

राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA) द्वारा जारी स्टेटमेंट के अनुसार तीन योग्य संस्थान तथा व्यक्ति “सुभाष चन्द्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार से प्रतिवर्ष सम्मानित किये जायेंगे, उन्हें 5 लाख रुपये से 51 लाख रुपये की राशि इनामस्वरुप प्रदान की जायेगी। इस पुरस्कार के लिए केवल भारतीय नागरिक तथा भारतीय संगठन ही योग्य हैं।

यदि पुरस्कार जीतने वाले कोई व्यक्ति है तो उसे एक प्रमाण पत्र तथा 5 लाख रुपये प्रदान किये जायेंगे। यदि पुरस्कार विजेता कोई संस्थान है तो उसे एक प्रमाण पत्र तथा 51 लाख रुपये प्रदान किये जायेंगे। इस इनाम राशि का उपयोग केवल आपदा प्रबंधन से सम्बंधित कार्य के लिए ही किया जा सकता है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

Advertisement