NSA

भारत ने समुद्री डाटा साझा करना शुरू किया

गोवा मेरीटाइम कॉन्क्लेव 2019 में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने हिन्द महासागर क्षेत्र के देशों के साथ सागर में मौजूद पोत के बारे में डाटा साझा करने की पेशकश की थी। भारत के पास सागर में मौजूद पोत के बारे में जाता प्राप्त करने के लिए IFC-IOR नामक स्पेशलाइज्ड केंद्र है। यह केंद्र सूचना शेयरिंग हब के रूप में कार्य करता है।

Information Fusion Centre-Indian Ocean Region (IFC-IOR)

इसे 22 दिसम्बर, 2018 को तत्कालीन रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा हरियाणा के गुरुग्राम में सूचना प्रबंधन व विश्लेष्ण केंद्र में लांच किया गया था। इसका उद्देश्य हिन्द महासागर क्षेत्र में विभिन्न देशों के साथ समुद्री सुरक्षा के लिए कार्य करना है।

विश्व का 75% समुद्री व्यापार हिन्द महासागर क्षेत्र से होकर गुज़रता है, इसलिए यह क्षेत्र वैश्विक व्यापार तथा आर्थिक समृद्धि के लिए आवश्यक है।

Information Fusion Centre-Indian Ocean Region आपदा प्रबंधन तथा पनडुब्बी सुरक्षा सूचना इत्यादि जैसे कार्य करता है। अब तक यह केंद्र 16 देशों तथा 13 अंतर्राष्ट्रीय समुद्री सुरक्षा एजेंसियों के साथ लिंक स्थापित कर चुका है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

अजीत डोवल को पुनः राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नियुक्त किया गया

अजीत डोवल को पुनः देश का राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) नियुक्त किया गया है, उनका कार्यकाल पांच वर्ष का होगा। उन्हें केन्द्रीय कैबिनेट मंत्री के बराबर का रैंक प्रदान किया गया है।  कैबिनेट की नियुक्ति समिति ने उनकी नियुक्ति को मंज़ूरी दी। इससे पहले उन्हें मई 2014 में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नियुक्त किया गया था। डोवल ने पिछले पांच वर्षों में देश की सुरक्षा में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। गौरतलब है कि अजीत डोवल लगातार दूसरी बार नियुक्त किये जाने वाले पहले राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार हैं।

अजीत डोवल

अजीत डोवल का जन्म 20 जनवरी, 1945 को हुआ था। वे 1968 में केरल कैडर में आईपीएस के रूप में शामिल हुए थे। वे मिजोरम और पंजाब में उग्रवादी विरोधी ऑपरेशन में काफी सक्रिय रहे। वे एक दशक तक इंटेलिजेंस ब्यूरो में कार्यरत्त रहे। डोवल जनवरी, 2005 में इंटेलिजेंस ब्यूरो के निर्देशक के सेवानिवृत्त हुए थे। मई, 2014 में उन्हें देश का राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नियुक्त किया गया था। गौरतलब है कि अजीत डोवल पुलिस मैडल जीतने वाले सबसे युवा पुलिस अफसर बने थे। उन्हें पुलिस में 6 वर्ष की सेवा के बाद ही पुलिस मैडल प्रदान किया गया था। बाद में अजीत दोवल को राष्ट्रपति पुलिस मैडल से सम्मानित किया गया। 1988 में अजीत डोवल को कीर्ति चक्र से सम्मानित किया गया, वे इस सम्मान को पाने वाले पहले पुलिस अफसर थे, यह सम्मान केवल सैनिकों को प्रदान किया जाता था।

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (National Security Adviser)

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार भारत का वरिष्ठ सुरक्षा अधिकारी होता है, वह राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर प्रधानमंत्री का प्रधान सलाहकार होता है। अब राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार भारत सरकार का सबसे शक्तिशाली नौकरशाह (ब्यूरोक्रेट) होता है। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार की नियुक्ति कैबिनेट की नियुक्ति समिति द्वारा की जाती है। अब तक राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार का चयन भारतीय विदेश सेवा तथा भारतीय पुलिस सेवा में से किया गया है। ब्रजेश मिश्रा भारत के पहले राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार थे, उन्होंने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के रूप में नवम्बर, 1998 से 22 मई, 2004 तक कार्य किये।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement