OPEC

कोरोना वायरस : 2008 के वित्तीय संकट के बाद से OPEC बड़े पैमाने पर तेल उत्पादन में कटौती करेगा

5 मार्च, 2020 को दुनिया के सबसे बड़े तेल उत्पादन करने वाले देशों के समूह ओपेक (पेट्रोलियम निर्यातक देशों के संगठन) ने उत्पादन में कटौती करने की योजना बनाई है। यह 2008 के वित्तीय संकट के बाद से सबसे अधिक तेल उत्पादन कटौती है।

मुख्य बिंदु

ओपेक के प्रमुख सदस्य, सऊदी अरब ने अप्रैल, 2020 से उत्पादन में प्रतिदिन 1.5 मिलियन बैरल कटौती करने की योजना बनाई है। उत्पादन में यह कटौती तेल की कीमतों को गिरावट से बचाने के लिए की जा रही है।

ओपेक ने कोरोना वायरस (COVID-19) के कारण तेल की मांग में गिरावट और दुनिया भर में इसके प्रभाव के कारण यह निर्णय लिया है। जब मांग घटती है और आपूर्ति उसी स्तर पर बनी रहती है तो इससे कीमतें कम हो जाएंगी क्योंकि तेल की उपलब्धता अधिक है। इसलिए ओपेक आपूर्ति में कटौती कर रहा है।

ओपेक (OPEC)

ओपेक एक अंतरसरकारी संगठन है, इसमें 15 तेल निर्यातक देश शामिल हैं। इसकी स्थापना 1960 में इराक के बगदाद में की गयी गयी थी। इसका मुख्यालय ऑस्ट्रिया की राजधानी विएना में स्थित है। ओपेक का उद्देश्य पेट्रोलियम नीति पर सदस्य देशों के साथ समन्वय करना है तथा तेल बाज़ार की स्थिरता  तथा पेट्रोलियम की नियमित आपूर्ति सुनिश्चित करना है।

ओपेक देश विश्व के कुल 43% तेल का उत्पादन करते हैं, विश्व के तेल भंडार का 73% हिस्सा ओपेक देशों में स्थित है। ओपेक का दो तिहाई मध्य पूर्व के देशों द्वारा ही किया जाता है।

ओपेक के सदस्य

  • एशिया व मध्य पूर्व : ईरान, इराक, सऊदी अरब, कुवैत, संयुक्त अरब अमीरात
  • अफ्रीका : अल्जीरिया, अंगोला, लीबिया, नाइजीरिया, कांगो गणराज्य तथा गाबोन
  • दक्षिण अमेरिका : वेनेज़ुएला

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Month:

Tags: , , , , , , , , ,

ओपेक ने तेल उत्पादन को कम करने का निर्णय लिया

तेल उत्पादक देशों के समूह ओपेक ने तेल उत्पादन को कम करके 5,00,000 बेरल प्रतिदिन करने का निर्णय लिया है। इसका उद्देश्य आधिक्य में कमी लाना है।

ओपेक (OPEC)

ओपेक एक अंतरसरकारी संगठन है, इसमें 15 तेल निर्यातक देश शामिल हैं। इसकी स्थापना 1960 में इराक के बगदाद में की गयी गयी थी। इसका मुख्यालय ऑस्ट्रिया की राजधानी विएना में स्थित है। ओपेक का उद्देश्य पेट्रोलियम नीति पर सदस्य देशों के साथ समन्वय करना है तथा तेल बाज़ार की स्थिरता  तथा पेट्रोलियम की नियमित आपूर्ति सुनिश्चित करना है।

ओपेक देश विश्व के कुल 43% तेल का उत्पादन करते हैं, विश्व के तेल भंडार का 73% हिस्सा ओपेक देशों में स्थित है। ओपेक का दो तिहाई मध्य पूर्व के देशों द्वारा ही किया जाता है।

ओपेक के सदस्य

  • एशिया व मध्य पूर्व : ईरान, इराक, सऊदी अरब, कुवैत, संयुक्त अरब अमीरात और क़तर
  • अफ्रीका : अल्जीरिया, अंगोला, लीबिया, नाइजीरिया, भूमध्य गिनी तथा गाबोन
  • दक्षिण अमेरिका : इक्वेडोर तथा वेनेज़ुएला

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , ,

Advertisement