PMJAY

बजट 2020 : स्वास्थ्य, जल व स्वच्छता

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 1 फरवरी, 2020 को बजट 2020-21 प्रस्तुत किया। भारत सरकार स्वास्थ्य को सबसे अधिक महत्व दे रही है। स्वास्थ्य, जल व स्वच्छता के लिए भारत सरकार ने निम्नलिखित योजनाओं के लिए फण्ड आबंटित किये हैं :

आयुष्मान भारत

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (PMJAY) के तहत देश भर में 20,000 अस्पतालों को एम्पैनल किया गया है। टियर-II तथा टियर-III शहरों में और अधिक अस्पतालों को एम्पैनल किया जाएगा। इस योजना के तहत PPP मोड में viability gap funding आबंटित की जायेगी।

टीबी हारेगा देश जीतेगा

‘टीबी हारेगा देश जीतेगा’ अभियान को भारत में 2025 तक ट्यूबरक्लोसिस को समाप्त करने के लिए लांच किया गया है। इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए तथा अभियान को मज़बूत करने के लिए बजट में फंड्स आबंटित किये गये हैं।

जन औषधि केंद्र योजना

इस योजना को देश भर के सभी जिलों में पहुँचाया जायेगा। इसका उद्देश्य 2000 दवाओं तथा 300 सर्जिकल उपकरणों को देश के सभी जिलों में उपलब्ध करवाना है। यह लक्ष्य 2024 तक हासिल कर लिया जाएगा।

स्वास्थ्य के लिए फण्ड आबंटन

स्वास्थ्य सेक्टर के लिए 69,000 करोड़ रुपये आबंटित किये गये हैं, इसमें प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (PMJAY) के लिए 6,400 करोड़ रुपये आबंटित किये गये हैं।

स्वच्छता

स्वच्छ भारत अभियान – फण्ड आबंटन

भारत सरकार देश को खुले में शौच से मुक्त (ODF) करने के लिए प्रतिबद्ध है। भारत सरकार ODF स्टेटस को बनाये रखने के लिए ODF+ का क्रियान्वयन कर रही है। स्वच्छ भारत अभियान के लिए 12,300 करोड़ रुपये आबंटित किये गये हैं।

जल

जल जीवन मिशन – फण्ड आबंटन

इस योजना के तहत देश के सभी घरों को पाइप के द्वारा स्वच्छ पेयजल उपलब्ध करवाया जाएगा।  भारत सरकार ने पहले से ही इस मिशन के लिए 3.6 लाख करोड़ रुपये आबंटित किये है। इस मिशन के तहत स्थानीय जल संसाधनों को बढ़ावा दिया जाएगा, पहले से मौजूद स्त्रोतों को रीचार्ज किया जायेगा, खारे पानी को पीने लायक बनाया जायेगा तथा जल संरक्षण को बढ़ावा दिया जाएगा। बजट के तहत शहरों को इस मिशन के क्रियान्वयन के लिए इस वर्ष 11,500 करोड़ रुपये आबंटित किये गये हैं।

अन्य योजनायें

  • मिशन इंद्रधनुष के तहत 12 रोगों को कवर किया जाता है, अब भारत सरकार ने इस योजना में पांच नये टीके शामिल किये हैं।
  • फिट इंडिया मूवमेंट के तहत जीवनशैली से जुड़ी हुई बीमारियों को समाप्त करने के प्रयास किया जाता है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

171 अस्पतालों को आयुष्मान भारत योजना से हटाया गया

3 जनवरी, 2020 को केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने 171 अस्पतालों को फ्रॉड के आरोप में आयुष्मान भारत योजना से हटाया (डी-एम्पैनल) कर दिया गया है। इन पर स्वास्थ्य मंत्रालय ने 4.5 करोड़ रुपये का जुर्माना भी लगाया है। उत्तराखंड और झारखण्ड में 6 अस्पतालों पर FIR भी दर्ज की गयी है।

एंटी-फ्रॉड यूनिट्स ने यह पाया कि कई निजी अस्पताल नकली ई-कार्ड तैयार कर रहे हैं, जबकि यह कार्य राज्य स्वास्थ्य एजेंसी का होता है। इस तरह के कई मामले छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और पंजाब में पाए गये।

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (आयुष्मान भारत)

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना एक सरकारी स्वास्थ्य योजना है, इसके तहत एक परिवार को प्रतिवर्ष 5 लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा कवर प्रदान किया जाता है। इसका लाभ किसी सरकारी व कुछ एक निजी अस्पतालों में लिया जा सकता है।  इस योजना को राष्ट्रीय स्वस्थ्य एजेंसी द्वारा लागू किया जा रहा है।

इस योजना के लिए 60% योगदान केंद्र द्वारा दिया जाता है, जबकि शेष राशी राज्यों द्वारा दी जाती है। इस योजना के सुचारू रूप से क्रियान्वयन के लिए नीति आयोग भी साथ में कार्य कर रहा है।

योजना के मुख्य बिंदु

इस योजना का लाभ लेने के लिए परिवार के सदस्यों की संख्या व आयु पर कोई सीमा नहीं है।  इसके तहत अस्पताल में भर्ती होने से पहले व बाद के खर्च को भी शामिल किया जायेगा। इस योजना में हॉस्पिटलाईजेशन के दो दिन पहले की दवा, डायग्नोसिस और बेड चार्जेज शामिल हैं। इसके अलावा हॉस्पिटलाईजेशन की अवधि तथा उसके बाद के 15 दिन के खर्च को इसमें कवर किया जायेगा। हॉस्पिटलाईजेशन के लिए रोगी को परिवहन व्यय भी दिया जायेगा।

उपचार के खर्च का भुगतान सरकार द्वारा पहले ही निश्चित किये गए पैकेज रेट पर किया जायेगा। पैकेज रेट में उपचार से सम्बंधित सभी खर्चे शामिल हैं। राज्य व केंद्र शासित प्रदेश इन खर्चों में एक सीमा तक परिवर्तन भी कर सकते हैं।

इस योजना के तहत रोगी का देश भर में हॉस्पिटलाईजेशन निशुल्क होगा। इससे देश के निर्धन वर्ग को काफी सहायता मिलेगी और देश में स्वास्थ्य सुरक्षा अधिक लोगों को प्राप्त हो सकेगी।

इस योजना के तहत लाभार्थी सरकार द्वारा चिन्हित किसी सरकार अथवा निजी अस्पताल से लाभ प्राप्त कर सकते हैं। इस योजना के तहत वेरिफिकेशन के लिए आधार कार्ड, वोट कार्ड अथवा राशन कार्ड की आवश्यकता पड़ेगी।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , ,

Advertisement