Tata Power

37 एयरफ़ील्ड्स को आधुनिक बनाने के लिए रक्षा मंत्रालय ने टाटा पॉवर के साथ समझौते पर हस्ताक्षर किये

8 मई, 2020 को रक्षा मंत्रालय ने टाटा पॉवर SED के साथ भारतीय वायु सेना की 37 एयर फील्ड के बुनियादी ढांचे के आधुनिकीकरण के लिए एक अनुबंध पर हस्ताक्षर किए। इस परियोजना की लागत लगभग 1,200 करोड़ रुपये है।

योजना

एयरफील्ड अधोसंरचना के आधुनिकीकरण के चरण-1 के तहत, भारतीय वायु सेना के एयरफील्ड को अपग्रेड किया गया था। इस कार्यक्रम के चरण-2 के तहत अनुबंध पर हस्ताक्षर किए गए हैं। फेज -2 के तहत नेविगेशनल एड्स और इंफ्रास्ट्रक्चर को अपग्रेड किया जायेगा।

दूसरे चरण में आधुनिक एयरफील्ड उपकरणों की स्थापना और कमीशनिंग जैसे कि कैट-II इंस्ट्रूमेंट लैंडिंग सिस्टम और एयर फील्ड लाइटिंग सिस्टम शामिल हैं।

आधुनिक उपकरणों को सीधे एयर ट्रैफिक कंट्रोल से जोड़ा जायेगा। यह एयरफील्ड सिस्टम का उत्कृष्ट नियंत्रण प्रदान करेगा।

एयरफील्ड इन्फ्रास्ट्रक्चर का आधुनिकीकरण

इस परियोजना के तहत भटिंडा में पहली आधुनिक हवाई क्षेत्र प्रणाली स्थापित की गई थी। यह परियोजना 2,500 करोड़ रुपये की थी। प्रथम चरण के तहत, लगभग 30 हवाई अड्डों का आधुनिकीकरण किया गया था। इस योजना पर 2011 में 1,219 करोड़ रुपये की कुल लागत पर हस्ताक्षर किये गये थे।

चरण-I के लिए भी TATA समूह के साथ भी अनुबंध किया गया था। प्रथम चरण के तहत, दूरी मापने के उपकरण, स्वचालित हवाई यातायात प्रबंधन प्रणाली, ओमनी-डायरेक्शनल रेडियो रेंज और तकनीकी हवाई नेविगेशन को लागू किया गया।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

Advertisement