Women Empower (WE) Expedition

आरोही पंडित एकल उड़ान पर अटलांटिक तथा प्रशांत महासागर को पार करने वाली पहली महिला बनीं

भारत की आरोही पंडित लाइट स्पोर्ट्स एयरक्राफ्ट के द्वारा अकेले अटलांटिक तथा प्रशांत महासागर को पार करने वाली पहली महिला बन गयी हैं। उन्होंने अलास्का के शहर उनालाक्लीत से उड़ान भरते हुए प्रशांत सागर को पार किया और रूस के सुदूर पूर्व क्षेत्र चुकोत्का के अनादिर एअरपोर्ट में लैंडिंग की ।

मुख्य बिंदु

आरोही पंडित 23 वर्षीय कमर्शियल पायलट हैं, वे महाराष्ट्र के मुंबई से हैं। वे लाइट स्पोर्ट्स एयरक्राफ्ट (LSA) लाइसेंस होल्डर हैं। उनकी यह उपलब्धि “Women Empower (WE) Expedition” का हिस्सा है। उन्होंने इस अभियान को अपनी मित्र कैप्टेन कीथहेयर मिसक्विता के साथ मिलकर पिछले वर्ष जुलाई में लांच किया था, उन दोनों की यात्रा अगस्त, 2018 में शुरू हुई थी। इस अभियान को “सोशल एक्सेस” नामक गैर-लाभकारी कम्युनिकेशन फर्म ने आयोजित व प्रायोजित किया है।

इस अभियान के दौरान आरोही पंडित और कीथहेयर मिसक्विता ने राजस्थान, गुजरात तथा पंजाब से होकर उड़ान भरी। इसके बाद वे पाकिस्तान, ईरान, तुर्की, सर्बिया, स्लोवेनिया, जर्मनी, फ्रांस तथा यूनाइटेड किंगडम से होकर गुजरी हैं। इस यात्रा के दौरान वे दुर्गम ग्रीनलैंड को लाइट स्पोर्ट्स एयरक्राफ्ट में पार करने वाली पहली महिला पायलट बनीं। अब तक आरोही 20 देशों तथा तीन महाद्वीपों से यात्रा करते हुए 29,500 किलोमीटर कवर कर चुकी हैं।

माही

  • यह एक छोटा “साइनस 912” सिंगल इंजन वाला अल्ट्रालाइट मोटर ग्लाइडर है।
  • इसका भार लगभग 400 किलोग्राम है।
  • इसका निर्माण स्लोवेनिया में पिपिस्त्रेल द्वारा किया गया है।
  • यह भारत में नागरिक विमानन महानिदेशालय द्वारा पंजीकृत किया जाने वाला पहला लाइट स्पोर्ट्स एयरक्राफ्ट है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , ,

आरोही पंडित लाइट स्पोर्ट्स एयरक्राफ्ट के द्वारा अकेले अटलांटिक महासागर को पार करने वाली पहली महिला बनीं

भारत की महिला कैप्टेन आरोही पंडित “माही” नामक लाइट स्पोर्ट्स एयरक्राफ्ट के द्वारा अकेले अटलांटिक महासागर को पार करने वाली पहली महिला बनीं।

मुख्य बिंदु

आरोही पंडित 23 वर्षीय कमर्शियल पायलट हैं, वे महाराष्ट्र के मुंबई से हैं। वे लाइट स्पोर्ट्स एयरक्राफ्ट (LSA) लाइसेंस होल्डर हैं। उनकी यह उपलब्धि “Women Empower (WE) Expedition” का हिस्सा है। उन्होंने इस अभियान को अपनी मित्र कैप्टेन कीथहेयर मिसक्विता के साथ मिलकर पिछले वर्ष जुलाई में लांच किया था, उन दोनों की यात्रा अगस्त, 2018 में शुरू हुई थी। वे इस वर्ष 30 जुलाई तक विश्व की परिक्रमा पूरी करके भारत में पहुँच जाएँगी। इस अभियान को “सोशल एक्सेस” नामक गैर-लाभकारी कम्युनिकेशन फर्म ने आयोजित व प्रायोजित किया है।

इस अभियान के दौरान आरोही पंडित और कीथहेयर मिसक्विता ने राजस्थान, गुजरात तथा पंजाब से होकर उड़ान भरी। इसके बाद वे पाकिस्तान, ईरान, तुर्की, सर्बिया, स्लोवेनिया, जर्मनी, फ्रांस तथा यूनाइटेड किंगडम से होकर गुजरी हैं। इस यात्रा के दौरान वे दुर्गम ग्रीनलैंड को लाइट स्पोर्ट्स एयरक्राफ्ट में पार करने वाली पहली महिला पायलट बनीं। उनकी यात्रा संभवतः 30 जुलाई, 2019 को भारत में समाप्त होगी, इस पूरी यात्रा की दूरी लगभग 37,000 किलोमीटर होगी।

“माही”

  • यह एक छोटा “साइनस 912” सिंगल इंजन वाला अल्ट्रालाइट मोटर ग्लाइडर है।
  • इसका भार लगभग 400 किलोग्राम है।
  • इसका निर्माण स्लोवेनिया में पिपिस्त्रेल द्वारा किया गया है।
  • यह भारत में नागरिक विमानन महानिदेशालय द्वारा पंजीकृत किया जाने वाला पहला लाइट स्पोर्ट्स एयरक्राफ्ट है।

आप इन अपडेट्स को करेंट अफेयर्स टूड़े मोबाइल एप्प में भी पढ़ सकते हैं।

Categories:

Month:

Tags: , , , , , , ,

Advertisement