अमेरिका ने गरीब देशों के लिए 500 मिलियन वैक्सीन डोज़ की घोषणा की

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाईडेन ने महामारी को जल्द से जल्द समाप्त करने के लिए दुनिया भर के सबसे गरीब देशों को फाइजर COVID-19 वैक्सीन (Pfizer COVID-19 Vaccine) की 500 मिलियन खुराक दान करने की घोषणा की है।

मुख्य  बिंदु

  • अमेरिका ने वैश्विक COVAX गठबंधन के तहत 92 निम्न-आय वाले देशों और अफ्रीकी संघ को वितरित करने के लिए 500 मिलियन फाइजर खुराक खरीदने और दान करने के लिए प्रतिबद्धता ज़ाहिर की है।
  • अगस्त, 2021 तक यह टीके उपलब्ध हो जाएंगे।
  • अमेरिका ने 2021 के अंत तक 200 मिलियन खुराक और 2022 की पहली छमाही में 300 मिलियन खुराक वितरित करने का लक्ष्य रखा है।

COVAX फैसिलिटी

यह Access to COVID-19 Tools (ACT) Accelerator के तीन स्तंभों में से एक है। इसे अप्रैल, 2020 में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO), फ्रांस और यूरोपीय आयोग द्वारा Covid-19 महामारी के खिलाफ लॉन्च किया गया था। COVAX यह सुनिश्चित करना चाहता है कि लोगों को समान रूप से कोविड-19 टीके मिलें। इसका 2021 के अंत तक 2 बिलियन खुराक उपलब्ध कराने का लक्ष्य है। COVAX का सह-नेतृत्व GAVI, Coalition for Epidemic Preparedness Innovations (CEPI)  और WHO द्वारा किया जा रहा है।

ACT Accelerator

यह कोविड -19 परीक्षणों, उपचारों और टीकों के विकास, उत्पादन और समान पहुंच में तेजी लाने के लिए सहयोग का एक ढांचा है। इसके तीन मुख्य स्तंभ हैं: टीके (COVAX), चिकित्सा, निदान।

Gavi COVAX Advance Market Commitment (AMC)

AMC COVAX सुविधा के भीतर एक तंत्र है जो सुनिश्चित करता है कि 92 मध्यम और निम्न-आय वाले देशों को कोविड -19 टीकों तक समान पहुंच प्राप्त हो, जैसा कि उच्च-आय वाले देशों को मिल रहा है। भारत भी एक Gavi लाभार्थी है और COVAX सुविधा के तहत टीके प्राप्त कर रहा है।

Categories:

Tags: , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments