अमेरिका ने म्यांमार के सैन्य नेताओं पर प्रतिबंधों की घोषणा की

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाईडेन ने 10 फरवरी 2021 को म्यांमार में सैन्य नेताओं पर प्रतिबंधों की घोषणा की।

मुख्य बिंदु

  • म्यांमार के सैन्य नेताओं को 1 बिलियन डॉलर के सरकारी धन तक पहुँचने से रोकने के लिए बाईडेन  प्रशासन द्वारा प्रतिबंध लगाए गए थे।
  • सरकार प्रतिबंधों के लक्ष्यों की पहचान करेगी और निर्यात प्रतिबन्ध लागू करेगी।
  • बाईडेन ने म्यांमार की सेना को तुरंत बंदियों को छोड़ने के लिए कहा है।

प्रतिबंध क्यों लगाए गए हैं?

म्यांमार में सैन्य शासन की के चलते बाईडेन प्रशासन ने म्यांमार में सैन्य नेताओं पर प्रतिबंध लगाए हैं।

म्यांमार में सैन्य शासन

म्यांमार में सेना ने देश पर नियंत्रण कर लिया है और 1 फरवरी, 2021 को एक साल के आपातकाल की घोषणा की। सेना ने स्टेट काउंसलर आंग सान सू की और अन्य सरकारी नेताओं को भी हिरासत में लिया है। नवंबर 2020 में हुए चुनाव में सू की की पार्टी की जीत हासिल की थी, परन्तु सेना ने इन चुनावों में गड़बड़ी का अंदेशा व्यक्त किया था। इसके बाद सेना ने देश को अपने कब्जे में ले लिया।

सेना को सत्ता कैसे मिली?

कोरोना महामारी के बीच देश की स्थिति से निपटने में सू की सरकार विफल होने के बाद आपातकाल की घोषणा की गई थी। इसके बावजूद, सू की की पार्टी ने नवंबर 2020 में फिर से चुनाव जीता। इस प्रकार, सेना ने म्यांमार के संविधान के अनुच्छेद 417 के अनुसार देश में पदभार संभाला। यह अनुच्छेद आपातकाल के समय में सेना को देश पर अधिकार करने की शक्ति देता है। 2008 में सेना ने म्यांमार के संविधान को तैयार किया था।

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments