अमेरिका ने रूस पर नए प्रतिबन्ध लगाये

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाईडेन (Joe Biden) ने रूस के खिलाफ नए प्रतिबंधों की घोषणा करते हुए कहा है कि मास्को द्वारा पूर्वी यूक्रेन में दो अलगाववादी क्षेत्रों को स्वतंत्र मान्यता देना रूसी आक्रमण की शुरुआत है।

मुख्य बिंदु 

  • अमेरिका ने डोनेट्स्क और लुहान्स्क की स्वतंत्रता को मान्यता देने और क्षेत्र में शांति बनाए रखने की आड़ में रूसी सैनिकों की तैनाती को अधिकृत करने के रूस के फैसले की आलोचना की है।
  • अमेरिका द्वारा किए गए प्रतिबंध ने रूस के संप्रभु ऋण और देश के दो वित्तीय संस्थानों को टारगेट किया है जिसमें रूस का सैन्य बैंक शामिल है।
  • इन प्रतिबंधों का मतलब है कि रूस अब पश्चिमी और यूरोपीय बाजारों से धन नहीं जुटा पाएगा।

यह प्रतिबंध क्यों लगाए गए?

रूसी सरकार ने लुहान्स्क पीपल्स रिपब्लिक और डोनेट्स्क पीपल्स रिपब्लिक को स्वतंत्र क्षेत्रों के रूप में मान्यता दी और यूक्रेन के पूर्वी हिस्से में सैन्य उपस्थिति स्थापित करने के लिए उनके साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए। अमेरिका ने इस समझौते को यूक्रेन पर आक्रमण की शुरुआत के रूप में परिभाषित किया है और इस प्रकार रूस पर प्रतिबंध लगाए हैं।

रूस पर लगाए गए अन्य प्रतिबंध

लुहान्स्क और डोनेट्स्क के साथ रूस के समझौते के बाद, अमेरिका के साथ, अन्य यूरोपीय देशों ने भी रूस पर प्रतिबंध लगाए हैं। बाल्टिक सागर में 11 बिलियन अमेरिकी डॉलर की गैस पाइपलाइन नॉर्ड स्ट्रीम 2 की मंजूरी जर्मनी में रोक दी गई है। यूके ने पांच रूसी बैंकों और तीन रूसी अरबपतियों के खिलाफ प्रतिबंध लगाए हैं।

रूस-यूक्रेन संकट (Russia-Ukraine Crisis)

2013 के बाद से, यूक्रेन द्वारा यूरोपीय संघ के साथ किए गए एक व्यापार और ऐतिहासिक सौदे को लेकर रूस और यूक्रेन के बीच तनाव बढ़ गया है। 2014 में, रूस ने अपनी राष्ट्रीय अखंडता की रक्षा के बहाने क्रीमिया पर कब्जा कर लिया। रूस ने यूक्रेन को यूरेशियन आर्थिक समुदाय (EAEC) में शामिल होने के लिए कहा था, जिसे यूक्रेन ने अस्वीकार कर दिया था। तब से, यूक्रेन नाटो की ओर बढ़ रहा है जिसका रूस विरोध कर रहा है और रूस इसे नाटो  के विस्तार के रूप में मानता है। रूस का मानना है कि यह कदम रूस की सीमाओं को प्रभावित करेगा। इन सभी ने रूस-यूक्रेन संकट को जन्म दिया है।

Categories:

Tags: , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments