अमेरिका फिर से संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में शामिल होगा

अमेरिका के जो बाईडेन प्रशासन ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में फिर से शामिल होने का निर्णय लिया है। अमेरिका ने वर्ष 2018 में डोनाल्ड ट्रम्प के कार्यकाल में परिषद से हटने का फैसला लिया था।

पृष्ठभूमि

  • डोनाल्ड ट्रम्प ने इजरायल के साथ भेदभाव के कारण संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद से हटने की घोषणा की थी।
  • इज़राइल को किसी अन्य देश के मुकाबले में अब तक की सबसे अधिक संख्या में परिषद के प्रस्ताव प्राप्त हुए थे।
  • इसलिए, ट्रम्प प्रशासन ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद के साथ इस मुद्दे पर चर्चा की थी।

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHCR)

  • UNHRC संयुक्त राष्ट्र प्रणाली के भीतर एक अंतर-सरकारी निकाय है।
  • यह एजेंसी दुनिया भर में मानवाधिकारों के प्रचार और संरक्षण को मजबूत करने में शामिल है।
  • यह एजेंसी मानवाधिकारों के उल्लंघन की स्थितियों का अवलोकन करती है ।
  • इस परिषद को 2006 में संयुक्त राष्ट्र महासभा के प्रस्ताव 60/251 द्वारा बनाया गया था।
  • इसकी स्थापना के तीन महीने बाद 2006 में परिषद का पहला सत्र हुआ था।
  • एजेंसी सभी विषयगत मानवाधिकार मुद्दों पर चर्चा करने में शामिल होती है।
  • UNHRC को मानव अधिकारों पर संयुक्त राष्ट्र आयोग (UNCHR) के स्थान पर बनाया गया था।
  • परिषद में 47 संयुक्त राष्ट्र सदस्य राष्ट्र शामिल हैं। इनसदस्य राज्यों को UNGA द्वारा प्रत्यक्ष और गुप्त मतदान द्वारा चुना जाता है।

UNHRC सत्र

UNHRC ने एक वर्ष में तीन नियमित सत्र आयोजित किये जाते हैं। यह सत्र कुल 10 सप्ताह तक चलते है। सत्र मार्च के महीने में चार सप्ताह, जून के महीने में तीन सप्ताह और सितंबर के महीने में तीन सप्ताह तक चलता है। यह सत्र स्विट्जरलैंड में संयुक्त राष्ट्र कार्यालय जिनेवा में आयोजित किए जाते हैं।

Categories:

Tags: , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments