अमेरिकी सेना ने अफगानिस्तान में बगराम (Bagram) हवाई अड्डा छोड़ा

अमेरिका की सेना ने लगभग दो दशकों के बाद अफगानिस्तान के बगराम (Bagram) हवाई क्षेत्र को छोड़ दिया है।

मुख्य बिंदु

  • बगराम हवाई क्षेत्र 9/11 के आतंकी हमलों की पृष्ठभूमि में अफगानिस्तान में कई सैन्य मुठभेड़ों और अमेरिका के ‘आतंक के खिलाफ युद्ध’ का केंद्र था।
  • बगराम हवाई क्षेत्र को अब अफगान राष्ट्रीय सुरक्षा और रक्षा बल को सौंप दिया गया है।
  • यह एयरबेस तालिबान और अल-कायदा आतंकवादी संगठनों के खिलाफ अमेरिकी सेना के युद्ध का स्थल रहा है।
  • इसमें अमेरिकी सेना के 455वें वायु अभियान विंग के कर्मचारियों ने का किया।
  • इसे अमेरिकी सेना, नौसेना की इकाइयों ने इस्तेमाल किया, और मरीन कोर ने इस हवाई क्षेत्र को बेस के रूप में भी इस्तेमाल किया है।

पृष्ठभूमि

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाईडेन ने 11 सितंबर तक अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की पूरी तरह से वापसी का वादा किया था। बगराम एयरबेस से 2,500-3,500 अमेरिकी सैनिकों की वर्तमान वापसी उस वादे पर अनुवर्ती कार्रवाई का संकेत है। अब, अमेरिका काबुल में अमेरिकी दूतावास की सुरक्षा के लिए अफगानिस्तान में लगभग 6,500 सैनिकों को शरण देता है।

बगराम एयरफील्ड (Bagram Airfield)

इसे बगराम एयर बेस के नाम से भी जाना जाता है और यह प्राचीन शहर बगराम के पास स्थित है। यह अफगानिस्तान में सबसे बड़ा अमेरिकी सैन्य अड्डा था। परवान प्रांत से इसकी दूरी 11 किलोमीटर है। इसमें एक सिंगल रनवे है जो लॉकहीड मार्टिन C-5 गैलेक्सी और एंटोनोव  A-225 सहित बड़े सैन्य विमानों को संभालने में सक्षम है।

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments