आंध्र प्रदेश का ‘फैमिली डॉक्टर प्रोजेक्ट’ (Family Doctor Project) क्या है?

आंध्र प्रदेश राज्य सरकार ने विशाखापत्तनम जिले के पद्मनाभम मंडल में पायलट आधार पर “फैमिली डॉक्टर प्रोजेक्ट” को लागू करने का निर्णय लिया है। इस परियोजना के 15 अगस्त 2022 से लागू होने की संभावना है। इस परियोजना को ग्रामीण आबादी के बीच स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार लाने के उद्देश्य से शुरू किया जाएगा।

  • “फैमिली डॉक्टर प्रोजेक्ट” के एक भाग के रूप में, वार्ड और ग्राम सचिवालयम में लोगों की स्वास्थ्य आवश्यकताओं की देखभाल के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (PHC) के एक डॉक्टर को उपलब्ध कराया जाएगा।
  • वार्ड के निवासियों के लिए चिकित्सक सुबह 9 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक रोगी सेवाएं प्रदान करेंगे।
  • दोपहर 12.30 बजे से दोपहर 1.30 बजे तक लंच ब्रेक दिया जाएगा।
  • वही डॉक्टर दोपहर 1:30 बजे से शाम 4:30 बजे तक फिर से उन रोगियों के पास जाएंगे, जो गंभीर रूप से बीमार हैं और जिन्हें प्रसवपूर्व और प्रसवोत्तर देखभाल की आवश्यकता है।
  • डॉक्टर के दौरे से पहले, ANM, आशा कार्यकर्ता और मिड-लेवल हेल्थ प्रोवाइडर (MLHPs) घर-घर जाकर उन लोगों की पहचान करेंगे, जिन्हें डॉक्टर की सेवाओं की आवश्यकता है।
  • उनके द्वारा विस्तृत सूची डॉक्टर को प्रस्तुत की जाएगी। इसके बाद PHC के डॉक्टर इन घरों का दौरा करेंगे और स्वास्थ्य सेवाएं देंगे।

पद्मनाभम मंडल में स्वास्थ्य सेवाएं:

पद्मनाभम मंडल में 2 PHC और 14 वार्ड शिवालय हैं। हर PHC में डॉक्टर हैं। इस प्रोजेक्ट के तहत एक डॉक्टर अस्पताल में रहेगा, जबकि दूसरा डॉक्टर ‘फैमिली डॉक्टर कॉन्सेप्ट’ को लागू करेगा।

कर्मचारियों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम:

“फैमिली डॉक्टर प्रोजेक्ट” को लागू करने के लिए, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी पहले से ही पद्मनाभम मंडल में आशा कार्यकर्ताओं, MLHPs और ANMs को प्रशिक्षित करने के लिए PHC में कर्मचारियों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित कर रहे हैं।

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments