आखिरी मौका चूकने वाले यूपीएससी उम्मीदवारों को नहीं मिलेगा एक और मौका : सर्वोच्च न्यायालय

देश के सर्वोच्च न्यायालय ने स्पष्ट कर दिया है कि आखिरी मौका चूकने वाले यूपीएससी उम्मीदवारों को एक और मौका नहीं दिया जायेगा।

इससे पहले केंद्र सरकार UPSC सिविल सेवा परीक्षा (CSE) के उन उम्मीदवारों को अतिरिक्त मौका देने पर सहमत हो गई थी, जिनका 2020 की परीक्षा में अंतिम प्रयास था, लेकिन COVID-19 के कारण इसके लिए उपस्थित नहीं हो पाए थे।

मुख्य बिंदु

यह याचिका एक सिविल सेवा उम्मीदवार रचना सिंह ने दायर की थी। अपनी याचिका में, उन्होंने उन उम्मीदवारों के लिए एक अतिरिक्त मौका मांगा था, जिनके पास आखिरी यूपीएससी प्रयास था, लेकिन पिछले साल महामारी के कारण वह प्रयास नहीं कर सके।

सिविल सेवा परीक्षा 2020

सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा 2020 पिछले साल 4 अक्टूबर को आयोजित की गई थी। महामारी के कारण यह परीक्षा मई से अक्टूबर तक स्थगित कर दी गई थी। सिविल सेवा 2020 की मुख्य परीक्षा अब समाप्त हो चुकी है। यह 8 जनवरी से 17, 2021 तक आयोजित की गयी थी।

उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार, 4,86,952 उम्मीदवार प्रारंभिक परीक्षा में उपस्थित हुए थे, और 10,000 से अधिक उम्मीदवारों को मुख्य परीक्षा के लिए शॉर्टलिस्ट किया गया था।

Categories:

Tags: , , , , ,

« »

Advertisement

Comments

  • Brahamdev rajput
    Reply

    Good 2023

Cancel Reply