आजादी के अमृत महोत्सव से स्वर्णिम भारत की ओर : मुख्य बिंदु

‘आजादी के अमृत महोत्सव से स्वर्णिम भारत की ओर’ कार्यक्रम की शुरुआत 20 जनवरी 2022 को हुई। इसकी शुरुआत पीएम मोदी ने की।

‘आजादी के अमृत महोत्सव से स्वर्णिम भारत की ओर’ कार्यक्रम

  • यह ब्रह्मा कुमारियों द्वारा समर्पित आज़ादी के अमृत के वार्षिक उत्सव का प्रतीक है। इस पहल के तहत 15,000 कार्यक्रम और 30 अभियान आयोजित किये जायेंगे। इस कार्यक्रम के दौरान, ग्रैमी पुरस्कार विजेता रिकी रेज  इस कार्यक्रम के लिए एक गीत समर्पित करेंगे।
  • यह कार्यक्रम अस्पतालों और मेडिकल कॉलेजों में आयोजित किये जायेंगे। यह कार्यक्रम कल्याण, आध्यात्मिकता और पोषण पर ध्यान केंद्रित करेगा।
  • इसमें डॉक्टरों के लिए सम्मेलन, कैंसर जांच और चिकित्सा शिविर भी शामिल होंगे।

सात पहलें

प्रधानमंत्री ने इस कार्यक्रम के दौरान निम्नलिखित सात पहलों का शुभारंभ किया:

  • मेरा भारत स्वस्थ भारत के तहत हरित पहल
  • आत्मनिर्भर भारत के तहत आत्मनिर्भर किसान पहल
  • महिलाएं: भारत की ध्वजवाहक
  • “अनदेखा भारत” पर एक साइकिल रैली
  • “एकजुट भारत” पर मोटर बाइक अभियान
  • स्वच्छ भारत अभियान के तहत पहल

ब्रह्माकुमारी (Brahmakumaris)

यह एक आध्यात्मिक संगठन है जिसका मुख्यालय माउंट आबू में है। यह विश्व नवीनीकरण और व्यक्तिगत परिवर्तन के लिए समर्पित है। इसकी स्थापना 1937 में हुई थी। यह संगठन अब 130 से अधिक देशों में फैल चुका है।

आत्मनिर्भर किसान पहल

75 किसान सशक्तिकरण अभियान, 75 सतत योगिक किसान प्रशिक्षण कार्यक्रम, 75 किसान सम्मेलन।

शांति बस अभियान

इसमें 75 शहरों को शामिल किया जाएगा। यह युवाओं के सकारात्मक परिवर्तन को प्रदर्शित करेगा।

साइकिल रैली

इसे विभिन्न विरासत स्थलों में आयोजित किया जायेगा। यह पर्यावरण और विरासत के बीच संबंध पर ध्यान केंद्रित करेगी।

मोटर बाइक अभियान

यह माउंट आबू और दिल्ली के बीच आयोजित किया जायेगा। यह कई शहरों को कवर करेगा।

स्वच्छ भारत

इसमें जागरूकता अभियान, स्वच्छता अभियान और सामुदायिक सफाई कार्यक्रम शामिल हैं।

Categories:

Tags: , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments