इज़राइल की संसद को भंग किया गया, दो साल में चौथी बार होंगे चुनाव

हाल ही में इज़राइल की संसद को भंग कर दिया गया है। गौरतलब है कि अब  इजराइल में पिछले दो वर्षों  में चौथी बार बार नए सिरे से चुनाव करवाए जायेंगे। इजरायल में पीएम बेंजामिन नेतन्याहू और रक्षा मंत्री बेनी गैंट्ज़ वाला गठबंधन संसद में बजट पारित में असफल रहा, जिसके बाद संसद का विघटन हो गया। मौजूदा संसद का चुनाव 2 मार्च, 2020 को किया गया था।

मुख्य बिंदु

इजराइल में सत्ताधारी गठबंधन बजट पारित करने में असफल रहा, जिसके बाद संसद अपने आप विघटित हो गयी। अब नए चुनाव संभवतः 23 मार्च को करवाए जायेंगे।

गैंट्ज़ और नेतन्याहू ने 3 साल के लिए गठबंधन पर सहमती प्रकट की थी, जिसके तहत 18 महीने तक नेतन्याहू देश के पीएम रहे और नवंबर 2020 में गैंट्ज़ ने सत्ता संभाली। गैंट्ज़ ने सरकार से 2020 और 2021 के लिए एक बजट पारित करने की मांग की। इसके बाद, बेंजामिन नेतन्याहू ने 2021 के बजट से असहमति जताई, और इसके कारण गठबंधन में समस्या हुई और अंततः संसद भंग हो गई।

नेसेट (Knesset)

इजरायल की संसद को नेसेट कहा जाताहै। यह राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, राज्य नियंत्रक का चुनाव करती है। संसद देश के लिए कानून पारित करती है और देश की सरकार के काम की निगरानी करती है। नेसेट में 120 सीटें हैं। नेसेट पश्चिम यरुशलम में स्थित है।

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments