इलेक्ट्रॉनिक वैक्सीन इंटेलिजेंस नेटवर्क (eVin) क्या है?

हाल ही में पीएम मोदी ने भारत में COVID-19 के टीकाकरण की तैयारियों पर चर्चा करने के लिए सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के प्रमुख के साथ बातचीत की। इस बातचीत के दौरान, यह बताया गया कि भारत वैक्सीन के प्राथमिक लाभार्थियों की पहचान के लिए और वितरण नेटवर्क के लिए संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP) के सहयोग से eVin यानी इलेक्ट्रॉनिक वैक्सीन इंटेलिजेंस नेटवर्क का उपयोग कर रहा है।

eVin क्या है?

इलेक्ट्रॉनिक वैक्सीन इंटेलिजेंस नेटवर्क (eVin) एक ऐसी तकनीक है जो वैक्सीन के स्टॉक के डिजिटल रिकॉर्ड को बनाए रखती है और एक मोबाइल एप्लिकेशन के माध्यम से कोल्ड चेन के तापमान पर नजर रखती है। eVinको शुरू में कोल्ड चेन पॉइंट्स में बेहतर वैक्सीन लॉजिस्टिक्स प्रबंधन का समर्थन करने के लिए वर्ष 2015 में 12 राज्यों में लॉन्च किया गया था। eVIN भारत सरकार के यूनिवर्सल इम्यूनाइजेशन प्रोग्राम का समर्थन करता है, जो वैक्सीन के स्टॉक और फ्लो से संबंधित वास्तविक समय की जानकारी प्रदान करता है।

eVin कैसे काम करता है?

सभी कोल्ड स्टोरेज हैंडलर eVin एप्लिकेशन के साथ स्मार्टफ़ोन प्रदान किए जाते हैं, जिसमें वे रोज़ाना प्रत्येक वैक्सीन के शुद्ध उपयोग को अपडेट करते हैं। यह डेटा जिला, राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर प्रबंधकों द्वारा देखा जाता है। इस प्रकार, टीकों के स्टॉक के बारे में डेटा सरकार को उपलब्ध हो जाता है। इसके अलावा, कोल्ड चैन उपकरण के साथ सिम-इनेबल्ड टेम्परेचर लॉगर्स जुड़ा होता है जो रेफ्रिजरेटर में रखे डिजिटल सेंसर के माध्यम से तापमान को रिकॉर्ड करता है। तापमान से संबंधित डेटा को हर 10 मिनट में कैप्चर किया जाता है और सर्वर पर हर 60 मिनट के बाद अपडेट किया जाता है। इस तरह, भंडारण तापमान से संबंधित आंकड़े उपलब्ध हो जाते हैं।

राज्यों में वैक्सीन का वितरण किस प्रकार किया जायेगा?

केंद्र सरकार ने कोविड-19 वैक्सीन के वितरण के लिए अपनी तैयारी शुरू कर दी है। सरकार ने National Expert Group on Vaccine Administration for Covid-19 (NEGVAC) का गठन किया है जो टीकाकरण की शुरुआत के लिए रणनीतियों का मार्गदर्शन करेगा। उम्मीद की जा रही है कि शुरुआती चरण में वैक्सीन की आपूर्ति, भारी मांग के कारण सीमित रहेगी। सरकार टीकाकरण के लिए जोखिम मूल्यांकन के आधार पर जनसंख्या को प्राथमिकता देगी और फिर टीकाकरण के लिए अन्य समूहों को शामिल किया जाएगा।

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार, अगस्त 2020 में, 22 राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों के 585 जिलों में 23,507 कोल्ड चेन पॉइंट्स ने eVIN तकनीक का इस्तेमाल किया। लगभग 41,420 वैक्सीन कोल्ड चेन हैंडलर्स ने eVIN पर डिजिटल रिकॉर्ड मेन्टेन करने का कार्य शुरू किया।

Categories:

Tags: , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments