इसरो-नासा का संयुक्त मिशन निसार उपग्रह (NISAR Satellite) 2023 में लॉन्च किया जाएगा

इसरो-नासा संयुक्त मिशन निसार (NASA-ISRO Synthetic Aperture Radar) उपग्रह, जिसका उद्देश्य उन्नत रडार छवियों का उपयोग करके विश्व स्तर पर पृथ्वी की सतह में परिवर्तन को मापना है, को 2023 की शुरुआत में लॉन्च किया जायेगा।

मुख्य बिंदु 

  • इस उपग्रह को 2023 की शुरुआत में लॉन्च किया जाएगा।
  • निसा इसरो और नासा के बीच एक संयुक्त पृथ्वी अवलोकन मिशन है, जिसका उपयोग ध्रुवीय क्रायोस्फीयर और हिंद महासागर क्षेत्र सहित पूरी पृथ्वी के वैश्विक अवलोकन के लिए किया जायेगा।
  • यह एक डुअल-बैंड (L-बैंड और S-बैंड) रडार इमेजिंग मिशन है जिसमें भूमि, वनस्पति और क्रायोस्फीयर में छोटे बदलावों को देखने के लिए पोलरिमेट्रिक और इंटरफेरोमेट्रिक मोड हैं।

निसार का विकास करना

नासा एल-बैंड SAR और संबंधित सिस्टम विकसित कर रहा है, जबकि इसरो एस-बैंड SAR , अंतरिक्ष यान बस, लॉन्च वाहन और संबंधित लॉन्च सेवाओं का विकास कर रहा है।

मिशन के उद्देश्य

इस मिशन का मुख्य वैज्ञानिक लक्ष्य ग्रह के बदलते पारिस्थितिक तंत्र, स्थलीय और तटीय प्रक्रियाओं, भूमि विरूपण (land deformation) और क्रायोस्फीयर पर जलवायु परिवर्तन के प्रभावों की समझ में सुधार करना है। निसार इसरो और नासा के बीच महत्वपूर्ण सहयोग परियोजनाओं में से एक है। वर्ष 2015 में तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की भारत यात्रा के दौरान भारत और अमेरिका इस मिशन के लिए सहमत हुए थे।

Categories:

Tags: , , , , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments

  • VIKAS NAI
    Reply

    nice

  • Sumit
    Reply

    मैं आशा करता हूँ कि इस ‘निसार’ दौत्य का विक्षेपण सफलतापूर्वक हो।