उत्तर प्रदेश बना पेपरलेस बजट पेश करने वाला पहला राज्य

उत्तर प्रदेश ऐसा पहला भारतीय राज्य बन गया है जिसने  कागज रहित बजट को पेश किया है राज्य के वित्त मंत्री, सुरेश खन्ना ने 22 फरवरी, 2021 को पेपरलेस मोड में 2021-2021 के लिए राज्य का बजट पेश किया।

मुख्य बिंदु

  • राज्य विधानमंडल के सदस्यों को आईपैड प्रदान किया गया ताकि वे बजट की महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त कर सकें।
  • सदन में दो बड़ी स्क्रीन पर बजट के मुख्य बिन्दुओं को दर्शाया गया।
  • “उत्तर प्रदेश सरकार का बजट” नाम से उत्तर प्रदेश के बजट ऐप पर बजट दस्तावेज भी उपलब्ध कराया गया था।इस एप्प को गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है।

बजट से मुख्य तथ्य

  • उत्तर प्रदेश सरकार ने वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए 5,50,270.78 करोड़ रुपये का बजट पेश किया है।
  • पिछले वर्ष के बजट की तुलना में इस वर्ष बजट परिव्यय में 34,410 करोड़ रुपये की वृद्धि की गई है।
  • उत्तर प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से यह बजट पेश किया गया था।
  • इस बजट में राज्य में सर्वांगीण विकास सुनिश्चित करने का प्रयास किया गया है।
  • बजट में 27,598.40 करोड़ की नई योजनाओं का समावेश है।
  • बजट में, अयोध्या जिले में हवाई अड्डे के लिए 101 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं, जिसका नाम “मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम हवाई अड्डा” है, जो निर्माणाधीन है।
  • उत्तर प्रदेश में महिला सशक्तीकरण को बढ़ावा देने के लिए ‘महिला समृद्धि योजना’ के लिए 200 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया गया है।

बजट पर प्रकाश डालते हुए, मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि, प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए ‘अभ्युदय योजना’ शुरू की गई थी। इसके तहत यूपीएससी, बैंकिंग, रेलवे, NEET और IIT-JEE जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए योग्य छात्रों को टैबलेट दिए जाएंगे।

Categories:

Tags: , , , , , , ,

« »

Advertisement

Comments